भीलवाड़ा: बिना हेलमेट न नजर आएं सरकारी और कोऑपरेटिव सेक्टर कर्मचारी, होगी ये कार्रवाई

भीलवाड़ा कलेक्टर राजेंद्र भट्ट ने हेलमेट की अनिवार्यता को लेकर आदेश जारी किए हैं. उन्होंने सरकारी और को-ऑपरेटिव संस्थाओं में कार्यरत कर्मचारियों से दुपहिया वाहन चलाने के दौरान अनिवार्य रूप से हेलमेट लगाने को पाबंद किया है. 

भीलवाड़ा: बिना हेलमेट न नजर आएं सरकारी और कोऑपरेटिव सेक्टर कर्मचारी, होगी ये कार्रवाई
कलेक्टर ने जिले के एसपी, एडीएम, जिला परिषद और समस्त उपखंड में कार्यरत अफसरों को आदेश जारी किए हैं.

दिलशाद खान, भीलवाड़ा: सड़क हादसों में आई तेजी को कम करने और सड़क सुरक्षा अभियान की सतर्कता को सिद्ध करने के लिए भीलवाड़ा जिला कलेक्टर ने सरकारी और कोऑपरेटिव सेक्टर के कर्मचारियों के लिए हेलमेट को अनिवार्य कर दिया है.

भीलवाड़ा कलेक्टर राजेंद्र भट्ट ने हेलमेट की अनिवार्यता को लेकर आदेश जारी किए हैं. उन्होंने सरकारी और को-ऑपरेटिव संस्थाओं में कार्यरत कर्मचारियों से दुपहिया वाहन चलाने के दौरान अनिवार्य रूप से हेलमेट लगाने को पाबंद किया है. उन्होंने आदेश जारी कर कहा है कि जो भी सरकारी कर्मचारी दुपहिया वाहन पर बिना हेलमेट पाया गया और उसके खिलाफ़ मोटर व्हीकल एक्ट के तहत कार्रवाई हुई तो विभागीय अनुशासात्मक कार्रवाई भी होगी. 

इस संबंध में कलेक्टर ने जिले के एसपी, एडीएम, जिला परिषद और समस्त उपखंड में कार्यरत अफसरों को आदेश जारी किए हैं. कलेक्टर के आदेशों के बाद भीलवाड़ा यातायात पुलिस ने यातायात नियमों की पालना को लेकर सख्ती दिखाना शुरू कर दिया है. 

कलेक्ट्री में आने वाले हर वाहनधारी को हेलमेट लगाने और चौपहिया चालकों को सीट बेल्ट लगाने की हिदायत दी जा रही है. हिदायती का दौर कुछ वक्त के लिए होगा, इसके बाद एमवी एक्ट के तहत कार्रवाई को अंजाम दिया जाएगा.