1 लाख की घूस लेते हाउसिंग बोर्ड प्रोजेक्ट मैनेजर गिरफ्तार, ACB से बोला-आप लेट आये हो

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (Anti Corruption Bureau) ने बड़ी कारवाई करते हुए हाउसिंग बोर्ड के परियोजना अभियंता को एक लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है. 

1 लाख की घूस लेते हाउसिंग बोर्ड प्रोजेक्ट मैनेजर गिरफ्तार, ACB से बोला-आप लेट आये हो
मामले में और भी अधिकारियों की भूमिका सामने आ सकती है इसकी जांच की जा रही है.

Jaipur : भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (Anti Corruption Bureau) ने बड़ी कारवाई करते हुए हाउसिंग बोर्ड के परियोजना अभियंता को एक लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है. आरोपी प्रोजेक्ट इंजीनियर विजय कुमार (Project Manager Vijay Kumar) ने परिवादी ठेकेदार से टेक्नीकल बिड जारी करने की एवज में घूस मांगी थी. आरोपी अभियंता ने रिश्वत की राशि फाइल में रखवाई. एसीबी (ACB Rajasthan) ने विजय कुमार के कार्यालय के साथ ही घर की भी तलाशी ली. मामले में और भी अधिकारियों की भूमिका सामने आ सकती है इसकी जांच की जा रही है. 

ये भी पढ़ें: इस ऑफिसर ने रिश्वत में महिला से मांगी उसकी 'अस्मत', बंद ऑफिस में बुलाता था लेट नाइट

हाउसिंग बोर्ड में ठेकेदारों के जरिए काम करवाया जाता है, लेकिन इन्हीं ठेकेदारों को काम देने के बदले अधिकारी रिश्वत (Bribe) मांगते हैं. इसका खुलासा शुक्रवार को एसीबी के ट्रेप के बाद हुआ. परिवादी इलेक्ट्रिक ठेकेदार है और इसने करीब 10 दिन पहले प्रताप नगर में बन रहे कोचिंग हब में इलेक्ट्रिक का ठेका लेने के लिए आवेदन किया था. इधर हाउसिंग बोर्ड  में इलेक्ट्रिकल विंग में प्रोजेक्ट इंजीनियर विजय कुमार (Housing Board Project Manager) के पास टेक्निकल बिड (नीलामी) का काम देखते हैं. विजय कुमार के पास परिवादी का काम पेंडिंग था. ठेकेदार ने एसीबी में शिकायत दी कि विजय कुमार टेक्निकल बिड पास करने की एवज में रिश्वत मांग सकता है.

सत्यापन  के बाद की गई कार्रवाई  
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की जयपुर देहात टीम ने शिकायत का सत्यापन कराया तो रिश्वत मांगने की बात सामने आई. इसके बाद एसीबी ने जाल बिछाया और और आज हाउसिंग बोर्ड में इलेक्ट्रिक ब्रांच में पद स्थापित प्रोजेक्ट इंजीनियर विजय कुमार रंगे हाथ रिश्वत लेते पकड़ लिया. एसीबी ने हाउसिंग बोर्ड के कमरा नंबर 312 में जहां विजय कुमार का कार्यालय में कार्रवाई की. 

पुलिस इंस्पेक्टर नीरज भारद्वाज ने बताया कि ठेकेदार ने  प्रताप नगर में बंद रहे कोचिंग हब में इलेक्ट्रिक का ठेका लेने के लिए एक फाइल हाउसिंग बोर्ड पर लगाई थी. प्रोजेक्ट इंजीनियर विजय कुमार फाइल पास करने की एवज में एक लाख रुपए की रिश्वत मांगी.

फाइल में रखवाई रिश्वत, बोला देर से आए हो
एसीबी ने शिकायत का सत्यापन किया और आज ट्रेप रचा. विजय कुमार ने परिवादी ठेकेदार से रिश्वत की राशि फाइल में रखवाई. इधर संकेत मिलते ही सीआई नीरज भारद्वाज के नेतृत्व में टीम ने ट्रैप (ACB Trap) कार्रवाई कर रिश्वत की राशि जब्त कर ली. इस दाैरान विजय कुमार ने एसीबी टीम से कहा था कि आप देरी से आये हो. इस मामले में और भी अधिकारियों की भूमिका है. इसकी जांच की जा रही है.

ठेका लेने के लिए पांच ठेकेदार ने लगाई थी फाइल
कोचिंग अब में इलेक्ट्रिकल ठेका लेने के लिए पांच ठेकेदारों ने फाइल लगाई थी. इसमें ठेकेदारों से भी पूछताछ की जाएगी कि उनसे भी पैसा मांगा गया या नहीं.

सीट छोड़ भागा स्टाफ 
एसीबी की कार्रवाई को देखते हुए ऑफिस में मौजूद स्टाफ अपनी अपनी सीटें छोड़कर भाग निकला. एसीबी कार्रवाई की सूचना आग की तरह पूरे हाउसिंग बोर्ड में फेल गई. कार्रवाई के बाद एसीबी ने रिश्वत की राशि जब्त कर फाइलों की खंगाली.

यह भी पढ़ें- Jaipur News: Rajasthan Assembly में ACB की तारीफ, Kataria बोले- मिलना चाहिए सम्मान