close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बारां के कस्बों में अब नदी नालों से हो रही अवैध बजरी खनन, पुलिस बेखबर

शाहाबाद क्षेत्र में इन दिनों नदी नालों में बजरी के आने से यह का कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है. 

बारां के कस्बों में अब नदी नालों से हो रही अवैध बजरी खनन, पुलिस बेखबर
ट्रैक्टर ट्रॉली, मेटाडोर खुलेआम बजरी को एक जगह से दूसरी जगह ले जा रहे है.

बारां: हाईकोर्ट के सख्त निर्देश और अवैध बजरी खनन पर रोक के बावजूद बारां जिला मुख्यालय और कस्बों में इन दिनों नदी नालों में से अवैध बजरी का खनन किया जा रहा है. इसके साथ ही मध्य प्रदेश से भी भारी मात्रा में अवैध बजरी आ रही है. शाहाबाद क्षेत्र में पिछले दिनों हुई बरसात के बाद नदी नालों में उफान आने से नदी नालों में नई बजरी की भी पानी की आवक हुई. 

वहीं बरसात का दौर थमते ही नदी नालों में पानी कम होने के बाद लोग अवैध बजरी रेती का खनन करने में लगे हुए हैं. अवैध बजरी रेती को खनन माफिया मन माफीक दाम पर बेच रहे हैं. शाहाबाद क्षेत्र में इन दिनों नदी नालों में बजरी के आने से यह का कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है. 

कस्बाथाना कस्बा मध्य प्रदेश के समीन बसा होने के कारण कस्बे सहित देवरी शाहाबाद समरानियां, केलवाडा राजपुर सहित अन्य गांवों व कस्बों में मध्य प्रदेश के करेरा झांसी श्योपुर ,कराहाल, कोलारस, शिवपुरी से अवैध बजरी भी सप्लाई की जा रही है. मध्य प्रदेश के इलाकों से लाकर रातों-रात बजरी से भरे ट्रक टोला, मेटाडोर, ट्रॉली जगह जगह खाली हो रहे हैं. 

इसके बाद दिन में ट्रैक्टर ट्रॉली, मेटाडोर खुलेआम  बजरी को एक जगह से दूसरी जगह ले जा रहे है. प्रशासन और पुलिस की आंखों में धूल झोंक कर अवैध बजरी का कारोबार फूल फल रहा है. बजरी के परिवहन के समय दलाल में बिचैलिया सक्रिय हो जाते हैं जो बड़ी सावधानी से अवैध खनन एवं परिवहन का कार्य करवाने में मदद करते हैं.

देवरी, कस्बाथाना, शाहबाद समरानियां केलवाडा अन्य प्रमुख कस्बों में मध्यप्रदेश क्षेत्र की नदी नालों से निकाल लाई गई रेत व बजरी के जगह-जगह ढेर लगा कर रखे जाते हैं. जिसे रात के अंधेरे में रेत और बजरी को लाकर कारोबारी अपने गोदामों और सुनसान इलाकों में खाली करा लेते हैं. इसके बाद ट्रैक्टर ट्रॉली में भरकर लोगों को मनमाफिक दाम में बेच देते हैं पुलिस और प्रशासन अंकुश लगाने में नाकाम साबित होता है.