अलवर में धड़ल्ले से चल रहा है अवैध खनन का काला धंधा, प्रशासन बना 'मूकदर्शक'

ग्रामीणों ने बताया कि ब्लास्टिंग से आसपास के मकान में दरारे आ जाती हैं तथा राह चलते राहगीर भी कई बार पहाड़ पर पत्थर आने की वजह से घायल भी हो चुके हैं.  

अलवर में धड़ल्ले से चल रहा है अवैध खनन का काला धंधा, प्रशासन बना 'मूकदर्शक'
अवैध खनन में माफिया लगातार पहाड़ उजाड़े जा रहे हैं.

जुगल किशोर गांधी/अलवर: बानसूर के गांव बड़ागांव में खनन माफियाओं द्वारा पहाड़ों को बारूद से इस कदर उड़ाया जा रहा कि आसपास के लोगों मे दहशत व्याप्त है. आए दिन हो रहे लीज की आड़ में अवैध खनन में माफिया लगातार पहाड़ उजाड़े जा रहे हैं और प्रशासन मौन बना हुआ है.

इस संबंध में ग्रामीणों ने बताया कि ब्लास्टिंग से आसपास के मकान में दरारे आ जाती हैं तथा राह चलते राहगीर भी कई बार पहाड़ पर पत्थर आने की वजह से घायल भी हो चुके हैं. लेकिन खनन माफियाओं के हौसले इस कदर बुलंद हैं कि आए दिन वह पहाड़ों को ब्लास्टिंग करके छलनी कर रहे हैं तथा गांव में एक भय का माहौल है.

ग्रामीणों ने कहा कि इसको लेकर कई बार शिकायत जिला कलेक्टर से की जा चुकी है. लेकिन कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं होने से खनन माफियाओं के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं. इस सम्बंध में जब एसडीएम से जानकारी चाही तो उन्होंने आश्वासन दिया कि अगर लीज से हतकड़ कोई अवैध खनन हो रहा है तो इस पर खनिज विभाग से जानकारी लेकर कार्रवाई की जाएगी.

बता दें कि राजस्थान में कई जगहों पर खनन माफियाओं का ताड़व जारी है. वह लगातार अवैध खनन कर प्राकृति को नुकसान पहुंचा रहे हैं और  प्रशासन मौन धारण किए हुए है, जिससे उनके हौसले बढ़ गए हैं. जबकि स्थानीय लोग खनन माफियाओं की हरकत से परेशान हैं.