close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बांसवाड़ा: नगर परिषद के मिलीभगत से जारी अवैध निर्माण का खेल, DM ने भी साधी चुप्पी

बांसवाड़ा शहर में नगर परिषद के अधिकारियों की मिलीभगत व लापरवाही के कारण अवैध निर्माण का खेल जारी है.

बांसवाड़ा: नगर परिषद के मिलीभगत से जारी अवैध निर्माण का खेल, DM ने भी साधी चुप्पी
भू-माफियाओं पर कार्रवाई करने में प्रशासन विफल रही है. (प्रतीकात्मक फोटो)

बांसवाडा: बांसवाड़ा शहर में नगर परिषद के अधिकारियों की मिलीभगत व लापरवाही के कारण अवैध निर्माण का खेल जारी है. शहर के हर प्रमुख मार्गो में नगर परिषद की बिना मंजूरी के सैकडों दुकानों का अवैध तरीके से निर्माण हुआ है. जिस पर अब तक नगर परिषद का ध्यान नहीं गया है. 

नगर परिषद के अधिकारियों से शिकायतों के बावजूद अवैध निर्माण रोकथाम लगाने का प्रयास नहीं किया गया है. भू-माफियाओं के बढ़ते क्रियाकलाप पर रोकथाम नहीं लगाने का खामियाजे की बानगी बनी बड़ी-बड़ी बिल्डिगें हैं. जिनका निर्माण पूरी तरह अवैध तरीके से हुआ है. 

शिकायतों के बावजूद नहीं हो रही कार्रवाई

स्थानीय लोगों का आरोप है कि इन बिल्डिंगों के निर्माण के दौरान भू माफियाओं ने सेडबेक तक नहीं छोडा है. आम लोगों की कई शिकायतों के बावजूद परिषद के अधिकारी इस पूरे मामले में कोई कार्यवाही नहीं कर रहे हैं. वहीं, जिला कलेक्टर भी इस पूरे मामले में आखें मुंद कर बैठे हुए हैं. 

200 दुकानों का हुआ है अवैध निर्माण

बांसवाडा शहर में करीब 200 दुकानों का निर्माण अवैध तरीके से हुआ है. शहर के उदयपुर मार्ग पर रिलाइंस पेट्रोल पंप के पास बनी दो बड़ी दुकानें नगर परिषद की बिना मंजुरी के बन गई है. इसके अलावा महाराणा प्रताप चौराहे, भादवा माता मंदिर के पास भी दुकानों का अवैध निर्माण हुआ है. शहर के ऐसा ही रतलाम मार्ग व दाहोद मार्ग भी नगर परिषद् अधिकारियों की मिलीभगत से अवैध निर्माण कार्य धड़ल्ले से जारी है.