जैसलमेर में टिड्डीयों के दलों ने किसानों को मुश्किल में डाला, मुआवजे की मांग पर अड़े किसान

जैसलमेर के मोहनगढ़ नहरी क्षेत्र के किसानों ने एकत्रित होकर पुलिस थानाधिकारी मोहनगढ़ को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंप टिड्डी हमले को आपदा मानते हुए सर्वे करवाकर उचित मुआवजा दिलाने एवं प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का क्लेम दिलाने की मांग की है.

जैसलमेर में टिड्डीयों के दलों ने किसानों को मुश्किल में डाला, मुआवजे की मांग पर अड़े किसान
पाकिस्तान से आये टिड्डी दलों ने किसानों को पहुंचाया नुकसान

मनीष रामदेव,जैसलमेर: जैसलमेर के नहरी इलाकों में पिछले लंबे समय से सीमा पार पाकिस्तान से आये टिड्डी दलों ने भारी मात्रा में फसलों का नुकसान किया था. और अभी भी कई इलाकों में टिड्डी दलों के हमले जारी हैं. ऐसे में आज मोहनगढ़ नहरी क्षेत्र के किसानों ने एकत्रित होकर पुलिस थानाधिकारी मोहनगढ़ को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंप टिड्डी हमले को आपदा मानते हुए सर्वे करवाकर उचित मुआवजा दिलाने एवं प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का क्लेम दिलाने की मांग की है. किसानों ने ज्ञापन में बताया कि टिड्डी दलों के हमलों से खरीफ की पूरी फसलें नष्ट होने से किसानों को काफी नुकसान हुआ है. ऐसे में पटवारियों के माध्यम से गिरदावरी रिपोर्ट करवाकर टिड्डी हमले को आपदा मानते हुए उचित मुआवजा दिलाया जाए. साथ ही किसानों का कहना है कि किसान क्रेडिट कार्ड बनाने के समय बैकों द्धारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत खरीफ 2017-18 का प्रीमियम काटा गया था और तहसील गिरदावरी रिपोर्ट के अनुसार खराबा भी माना गया था. लेकिन उसका क्लेम अभी तक नहीं मिला है. किसानों का कहना है कि उनकी मांगे 7 दिनों में नहीं मानी जाती हैं तो किसान उग्र आंदोलन करेगें. जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी प्रशासन की होगी.पिछले कई महीनों से पाकिस्तान से आने वाले टिड्डी दलों ने किसानों की चिंताएं बढ़ा दी हैं.टिड्डीयों का आतंक ऐसा होता हैं कि एकड़ की एकड़ फसलों को चट कर जाती हैं ऐसे में किसानों की सारी मेहनत पर पानी फिर जाता है. किसानों ने मांग की है कि जल्द ही उन्की फरियाद सुनी जाए वरना उनके लिए परिवार का भरण पोषण करना भी मुश्किल हो जाएगा. अभी कुछ दिन पहले भी सरहदी जिलों के किसान इन टिड्डीयों से काफी परेशान थे. तब भी प्रशासन ने मोर्चा संभाला था, लेकिन एक बार फिर से किसानों ने सरकार से समाधान की मांग की है.