close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: आयकर विभाग के स्थापना दिवस कार्यक्रम के दौरान अधिकारी हुए सम्मानित

आयकर विभाग के 159वें स्थापना दिवस पर क्षेत्रीय मुख्यालय में प्रदेशस्तरीय कार्यक्रम के दौरान कई अधिकारियों को सम्मानित किया गया.

राजस्थान: आयकर विभाग के स्थापना दिवस कार्यक्रम के दौरान अधिकारी हुए सम्मानित
मुख्य सचिव ने कहा कि इनकम टैक्स से मिला राजस्व देश निर्माण करता है.

जयपुर: आयकर विभाग ने अपना 159वां स्थापना दिवस राजस्व वसूली, करदाता को सहुलियत और तकनीकी नवाचार को प्राथमिकता के संकल्प के साथ मनाया. जयपुर क्षेत्रीय मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य सचिव डीबी गुप्ता ने कहा कि इनकम टैक्स से मिला राजस्व देश निर्माण करता है, आयकर अदा करने की प्रक्रिया ऐसी हो की लोग खुद आगे आकर टैक्स भरें. इस दौरान प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त नीना निगम ने कहा कि हम नए कदमों के साथ राजस्व और करदाता की सुविधा दोनों बढ़ाने पर काम कर रहे हैं. 

करदाता सहुलियत पर काम 
आयकर विभाग के 159वें स्थापना दिवस पर क्षेत्रीय मुख्यालय में प्रदेशस्तरीय कार्यक्रम आयोजित हुआ. कार्यक्रम में प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त नीना निगम, मुख्य सचिव डीबी गुप्ता, महानिदेशक आयकर अन्वेषण महेंद्र सिंह सहित भारतीय राजस्व सेवा से जुड़े अधिकारी और आयकरकर्मी मौजूद रहे. 

कार्यक्रम में आयकर पखवाड़े में आयोजित प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कृत किया गया. वहीं बीते वित्त वर्ष बेहतर काम करने वाले आईआरएस अधिकारी भाविका माल को अजमेर में आयकर छापे में रिकॉर्ड राजस्व वसूली, सुशील कुमार कुल्हरी को बेनामी यूनिट में रिकॉर्ड कार्रवाई करने, बकाया आयकर वसूली के लिए पी के देवड़ा, विभागीय नवाचार के लिए शैलेंद्र शर्मा, ऊर्जा बचत उपबंधों को प्रमुखता से लगू करने के लिए जीडी शर्मा और बेहतर प्रबंधन के लिए टीआर मुरलीधरण को सम्मानित किया गया.

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य सचिव डी बी गुप्ता ने कहा कि पब्लिक से जुड़े विभागों में सुशासन जरूरी हैँ, इससे भ्रष्ट्राचार की संभावनाएं भी खत्म होते हैं, विभाग का फेसलेस स्क्रूटनी पर फोकस अधिक हैं, इससे पारदर्शिता आएगीं. उन्होंने कहा कि लोग टैक्स चुकाने में गर्व महसूस करें ऐसी व्यवस्था की जाए. 

देश निर्माण का साझीदार
प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त नीना निगम ने कहा कि आयकर संग्रहण बेहद कठिन कार्य हैं, लेकिन इससे मिला राजस्व करोड़ों चेहरे पर खुशी लाता हैं. विभाग की कोशिश कर संग्रहण सुविधाओं में बढ़ोतरी की हैं, इसके लिए तकनीकी सहयोग पर फोकस किया जा रहा है. क्षेत्रीय मुख्यालय लगातार कर सलाहकारों और करदाताओं से संवाद बनाए हुए हैँ, यहीं वजह हैं कि आयकर मामलों का पेंडिंग स्टेटस राजस्थान में बेहद कम हैँ. विभाग की पहली कोशिश करदाताओं को जागरूक कर टैक्स अदा करने के लिए प्रेरित करना हैं. 

रिकॉर्ड टैक्स वसूली
आयकर विभाग के साथ देश के लिए भी यह गौरव का दिन हैँ कि 159 वर्ष पुरानी संस्था भारत के नवनिर्माण में साझीदार हैँ. देश में बीते वर्ष 11 लाख 34 हजार करोड़ रुपए बतौर टैक्स वसूले गए हैं, विभाग इस बार इस लक्ष्य में इजाफा मान कर चल रहा हैँ. आयकर के रूप में वसूली गई धनराशि का अधिकतर उपयोग इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण में हुआ हैँ. विभाग फिलहाल उत्सव के मूड में हैं लेकिन अगस्त महिने के बाद जिन करदाताओं ने टैक्स चुकाने में कौताही की हैं उन पर एक्शन भी शुरू होगा.