जोधपुर में होगा भारत-रूस वायुसेना के संयुक्त युद्धाभ्यास का आगाज

रूस रक्षा क्षेत्र में भारत का महत्वपूर्ण साथी रहा है और दोनों के बीच सहयोग में बहुत बढोत्तरी हुई है

जोधपुर में होगा भारत-रूस वायुसेना के संयुक्त युद्धाभ्यास का आगाज
पहले दोनों देशों की तीनों सेनाओं ने रूस में युद्धाभ्यास 'इंडर' में भाग लिया था

नयी दिल्ली: भारत और रूस की वायुसेनाएं अभियान संबंधी समन्वय बढाने के उद्देश्य से सोमवार से जोधपुर में 12 दिवसीय युद्धाभ्यास शुरू करेंगी. भारतीय वायुसेना के एक अधिकारी ने कहा कि 'एवीइंडर' नाम का अभियान अद्वितीय होगा क्योंकि रूस की वायुसेना अपना साजोसामान लेकर नहीं आएगी और वह युद्धाभ्यास में भारतीय उपकरणों का इस्तेमाल करेगी.

अधिकारी ने कहा कि भारतीय वायुसेना द्वारा इस्तेमाल होने वाले ज्यादातर लड़ाकू विमान रूसी मूल के ही हैं और दोनों देशों की वायुसेनाएं आपसी तालमेल के महत्वपूर्ण स्तरों को छू चुकी हैं. 

रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा, 'भारत में, 'रशियन फेडरेशन ऐयरोस्पेस फोर्स' के पायलट भारतीय वायुसेना के विमानों में भारतीय पायलटों के साथ उड़ान भरेंगे जो दोनों वायुसेनाओं में समान हैं'. 

रूस रक्षा क्षेत्र में भारत का महत्वपूर्ण साथी रहा है और दोनों के बीच सहयोग में बहुत बढोत्तरी हुई है. पिछले साल अक्टूबर में, भारत और रूस ने दस दिन के युद्धाभ्यास में भाग लिया था जिसमें उनकी थलसेनाएं, नौसेनाएं और वायुसेनाएं शामिल हुई थीं. इससे पहले दोनों देशों की तीनों सेनाओं ने रूस में युद्धाभ्यास 'इंडर' में भाग लिया था.

(इनपुट-भाषा)