close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: बाल संप्रेषण गृह से 3 बच्चे फरार, नाकाबंदी कर तलाश जारी

ट्रांसपोर्ट नगर स्थित बाल संप्रेषण गृह पर नाबालिगों ने पीछे की दिवार तोड़ दी और करीब 15 से अधिक नाबालिग बच्चों ने भागने का प्रयास किया. 

जयपुर: बाल संप्रेषण गृह से 3 बच्चे फरार, नाकाबंदी कर तलाश जारी
पुलिस ने बताया कि फरार हुए बच्चे भट्टा बस्ती थाना इलाके के रहने वाले थे.

शरद पुरोहित/जयपुर: शहर के ट्रांसपोर्ट नगर स्थित बाल संप्रेषण गृह से गुरूवार को 3 बच्चे फरार हो गए. घटना के बाद ट्रांसपोर्ट नगर पुलिस और पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंची. शहर में नाकाबंदी करवायी गयी लेकिन बच्चों का अब तक कोई सुराग हाथ नहीं लगा है. 

ट्रांसपोर्ट नगर स्थित बाल संप्रेषण गृह पर नाबालिगों ने पीछे की दिवार तोड़ दी और करीब 15 से अधिक नाबालिग बच्चों ने भागने का प्रयास किया. हालांकि पीछे के रास्ते पर सुरक्षा कर्मी पहुंच गए जिससे बच्चे फरार नहीं हो सके. इस दौरान बच्चों को दूसरे कमरे में शिफ्ट किया जा रहा था. शिफ्ट करते समय 3 बच्चे मौका देखकर पाइप के रास्ते से उपर चढ़कर फरार हो गये. संप्रेषण गृह प्रशासन की ओर से ट्रांसपोर्ट नगर पुलिस को सूचना दी गई. पुलिस ने बच्चों की तलाश के लिए तस्वीर जारी कर दी. पुलिस ने बताया कि फरार हुए बच्चे भट्टा बस्ती थाना इलाके के रहने वाले थे. 

बच्चों ने फरार होने से पहले बाल संप्रेषण गृह में जमकर उत्पात भी बचाया. नाबालिग बच्चों ने कमरे के दरवाजे तोड़ दिये, पंखे व ट्यूबलाईटे भी तोड़ दी. कमरों में रखी फाइलें और दस्तावेजों को भी फाड़ दिया. बाथरूम में भी जमकर तोड़ फोड़ मचायी. उसके बाद पीछे के रास्ते में बने बाथरुम की दिवार को तोड़कर सुराख कर दिया जिससे कि बच्चे फरार हो सके. घटना के उजागर होने से बाल सम्प्रेषण प्रशासन की लापरवाही भी सामने आ गयी. बच्चों ने कई घंटो तक उत्पात मचाया लेकिन वहां के कर्मचारियों को इसकी जानकारी ही नही हो पायी जिसके बाद में 3 नाबालिग फरार हो गए.

घटना के बाद पुलिस ने फरार तीनों नाबालिग की तस्वीरे सभी थानों और कंट्रोल रुम पर भेज दी है. शहर में नाकाबंदी कर बच्चो की तलाश की जा रही है. लेकिन सवाल यही है कि इसी बाल संप्रेषण गृह में ऐसी घटनाएं पहले भी कई बार हो चुकी है लेकिन फिर भी यहां के प्रशासन ने अपनी लापरवाही को सुधारते हुए कड़े सुरक्षा इंतजाम नहीं किए जिसके चलते फिर से ऐसी घटना सामने आयी है.