JCTSL में हुआ भ्रष्टाचार का खुलासा, ACB ने रिश्वत लेते हुए 4 को किया गिरफ्तार

Rajasthan News: ACB ने वीरेंद्र वर्मा को अजमेर रोड के जनकपुरी स्थित घर से नरेश सिंघल से 4 लाख रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया, बाकी तीन आरोपियों को भी इस मामले में मिलीभगत के चलते गिरफ्तार किया गया है.

JCTSL में हुआ भ्रष्टाचार का खुलासा, ACB ने रिश्वत लेते हुए 4 को किया गिरफ्तार
शांति धारीवाल ने 50 मिनी बसों की दिखाई थी हरी झंडी.

Jaipur: शनिवारी सुबह UDH मंत्री शांति धारीवाल की मौजूदगी में जिन 50 नई मिडी बसों को हरी झंडी दिखाई गई उन्ही बसों की खरीद और सुविधा विस्तार के मामले में शाम होते होते करीब 6 घंटें बाद बड़े करप्शन कर खुलासा हो गया. ACB ने शनिवार शाम जयपुर सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विसेज लिमिटेड (JCTSL)  के OSD वीरेन्द्र वर्मा को 4 लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है.

इस मामले में दिल्ली की बस कंपनी पारस ट्रेवल्स के मालिक नरेश सिंघल, उसके साले अनुज अग्रवाल, JCTSL के कर्मचारी महेश कुमार गोयल को गिरफ्तार किया है. बस कंपनी के मालिक को रिश्वत देने के आरोप में पकड़ा है. ACB डीजी बीएल सोनी, एडीजी दिनेश एमएन और एडिशनल एसपी बजरंग सिंह ने कार्रवाई को लेकर बताया कि जयपुर सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विसेज में 100 मिडी सिटी बसों के टेंडर आवंटन, संचालन में सुविधा और सब्सिडी रिलीज करने के एवज में भारी भ्रष्टाचार की सूचना मिली थी.

इस पर ACB ने JCTSL के OSD वीरेन्द्र वर्मा, मैनेजर महेश गोयल, पारस ट्रैवल्स नई दिल्ली के मालिक नरेश सिंघलऔर कर्मचारी अनुज पर निगरानी रखी गई. शनिवार को ACB ने वीरेंद्र वर्मा को अजमेर रोड के जनकपुरी स्थित घर से नरेश सिंघल से 4 लाख रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया, बाकी तीन आरोपियों को भी इस मामले में मिलीभगत के चलते गिरफ्तार किया गया है.

पूरे मामले में जो अब तक तलाशी हुई है उसमें घूसखोर RAS वीरेन्द्र वर्मा के घर से तलाशी में 7 लाख रूपये नकद और प्रोपर्टी के दस्तावेज बरामद हुए है. जानकारी के अनुसार, ओएसडी वीरेंद्र वर्मा की आवास सर्च में एसीबी को 7 लाख रुपए नगद, एक तीन मंजिला मकान, 3 भूखंडों एवं कृषि भूमि से संबंधित कागजात बरामद किए और वीरेंद्र वर्मा के खिलाफ नरेगा में हुई अनियमितताओं को लेकर एसीबी में प्रकरण संख्या 114/11 भी दर्ज किया गया था एवं अग्रिम कार्रवाई जारी है.