close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: ऑनलाइन नकली दवाई बेचने का मामला, ड्रग टीम ने जब्त की 40 लाख से अधिक की दवाएं

जांच में सामने आया है कि सीकर, झुंझुनू, अलवर, जोधपुर, भरतपुर, हनुमानगढ़, नागौर, दौसा और करौली में बड़ी मात्रा में इन दवाइयों की बिक्री की जा रही थी. इन सभी जगह भी कार्रवाई की जाएगी.

जयपुर: ऑनलाइन नकली दवाई बेचने का मामला, ड्रग टीम ने जब्त की 40 लाख से अधिक की दवाएं
प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर: प्रदेश में ऑनलाइन दवाइयों में नकली दवाएं बेचे जाने का मामला सामने आया है. ड्रग विभाग ने बड़ी कार्रवाई करते हुए शुक्रवार रात को करीब 40 लाख रुपए से अधिक की नकली दवाएं पकड़ने का दावा किया है. सैंपल ले लिए गए हैं और जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी. ब्लड प्रेशर और हार्ट डिजीज में काम आने वाली इन दवाइयों पर कार्रवाई के लिए प्रदेश भर में छापे मारे गए हैं. शहर में ही आठ जगह छापा मार कार्रवाई की गई और सभी जगह से दवाएं जब्त कर सैंपल लिए गए हैं. 

जांच में सामने आया है कि सीकर, झुंझुनू, अलवर, जोधपुर, भरतपुर, हनुमानगढ़, नागौर, दौसा और करौली में बड़ी मात्रा में इन दवाइयों की बिक्री की जा रही थी. इन सभी जगह भी कार्रवाई की जाएगी. ड्रग कंट्रोलर अजय फाटक ने बताया कि, सूचना मिली थी कि शहर में कई जगह नकली दवाएं बेचे जाने का काम चल रहा है. इसके बाद टीम ने अपने स्तर पर पड़ताल की और शुक्रवार को दस टीमों के साथ छापा मारा. 

फिल्म कॉलोनी की दर्श फार्मा और वृंदावन फार्मा, कालवाड़ स्कीम की सनशाइन एंटरप्राइजेज, सुर्दशनपुरा की थीया टेक्नोलोजिस और मेडि लाइफ इंटरनेशनल प्रा.लि., कोटपुतली में यूनाइटेड मेडिकल एजेंसी, वीकेआई में अग्रवाल स्टोर्स और 22 गोदाम स्थित एपिओन मेड आरएक्स फार्मेसी पर कार्रवाई की. इन सभी जगहों से एट्रोवेसटाटीन टेबलेट, रेमीप्रील, ल्यूपिन फार्मा, यूरिमेक्स डी टेबलेट, सिपला, डुफास्टोन, अबोट, क्लोनाजिपाम, टोरेंट की दवाएं संदेहास्पद पाई गई हैं और काफी मात्रा में ऑनलाइन बेची जा रही थी.

फिल्म कॉलोनी स्थित मैसर्स दर्श फार्मा के यहां नकली दवा लोसार एच का बेचान सामने आया है. यहां से सीकर, झुंझुनू, अलवर, जोधपुर, भरतपुर, हनुमानगढ़, नागौर, दौसा और करौली, उदयपुर, भीलवाड़ा सहित लगभग सभी जिलों में यह दवा बेची जा रही थी. यहां करीब 37 लाख रुपए की दवा जब्त की गई है. जांच में सामने आया है कि दर्श फार्मा दिल्ली के गणपति एंटरप्राइजेज से माल खरीद रहा था. मामले में दिल्ली के ड्रग कंट्रोलर को सूचित कर दिया गया है और शनिवार को वहां भी कार्रवाई की जाएगी.

टीम जयपुर के सुदर्शनपुरा स्थित थीया टेक्नोलोजिस में कार्रवाई के लिए पहुंची. यहां जैसे ही टीम बेसमेंट में गई, कर्मचारियों ने ड्रग विभाग की टीम को ही बंधक बना लिया. बाद में ड्रग कंट्रोलर अजय फाटक और अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और पुलिस को सूचना दी. साथ ही कंपनी के अधिकारियों को चेतावनी दी. इसके बाद ड्रग टीम को छोड़ा गया.