close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: कांग्रेस ने बुलाई निकाय चुनाव के लेकर बैठक, पूर्व मंत्री ने उठाया कश्मीर का मुद्दा

बैठक के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा इस बार निकाय चुनाव सरकार की छवि पर होगा. सरकार की योजनाओं को लेकर हम जनता के बीच जाएंगे.

जयपुर: कांग्रेस ने बुलाई निकाय चुनाव के लेकर बैठक, पूर्व मंत्री ने उठाया कश्मीर का मुद्दा
सचिन पायलट यह भी कहा कि स्थानीय मुद्दों की पड़ताल करवाई जाएगी.

जयपुर: प्रदेश में आने वाले निकाय चुनाव को लेकर कांग्रेस ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है. प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में आज कांग्रेस के नेताओं और निकाय कमेटी के सदस्यों की बैठक हुई बैठक में चुनाव को लेकर रणनीति टिकट वितरण और चुनावी मुद्दों पर चर्चा हुई. बैठक में पूर्व मंत्री दुरू मियां सहित कई सदस्यों ने धारा 370 का भी मुद्दा उठाया. कांग्रेस नेताओं ने कहा कि धारा 370 को लेकर कांग्रेस को सही स्टैंड लेना चाहिए. नेताओं के अलग-अलग बयानों से कार्यकर्ता कंफ्यूज हो रहे हैं. बैठक में कई नेताओं ने पार्टी विधायकों और मंत्रियों पर कार्यकर्ताओं के कामों की तरफ ध्यान नहीं देने की भी बात कही.

बैठक के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा इस बार निकाय चुनाव सरकार की छवि पर होगा. सरकार की योजनाओं को लेकर हम जनता के बीच जाएंगे. पिछली बार हम विपक्ष में थे लेकिन निकाय चुनाव में हमने बेहतर प्रदर्शन किया था. इस बार निकाय चुनाव बड़ी चुनौती हैं. सचिन पायलट ने कहा कि बैठक में टिकट वितरण को लेकर कई सुझाव आए हैं. योग्य व्यक्तियों को टिकट देने की बात कही गई है. लिहाजा पूरे प्रदेश में टिकट वितरण को लेकर सर्वे करवाया जाएगा. 

साथ ही सचिन पायलट यह भी कहा कि स्थानीय मुद्दों की पड़ताल करवाई जाएगी. जिस व्यक्ति को टिकट मिलेगा पूरी कांग्रेस पार्टी उसके साथ एकजुटता से चुनाव लड़ेगी. ब्लॉक और जिला स्तर पर कमेटियों को निर्देशित किया गया है कि स्थानीय मुद्दों के आधार पर घोषणापत्र तैयार किए जाएं.  कांग्रेस पार्टी चाहती है कि सितंबर में यह पूरी कार्रवाई कर ले ताकि निकाय चुनाव की तैयारियों को समय रहते अंजाम दिया जा सके.
 
वहीं परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा धारा 370 को लेकर कोई कंफ्यूजन नहीं है. आजादी के बाद प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने कहा था कि धारा 370 स्वत ही घिस-घिस कर खत्म हो जाएगी और उस समय के हालातों के अनुसार धारा 370 को लगाना जरूरी था. कश्मीर को देश के साथ रखना जरूरी था. भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में धारा 370 के मुद्दे को शामिल किया था इसे हटा कर जनता पर कोई एहसान नहीं किया है. लेकिन जिस तरह का प्रोपेगेंडा किया जा रहा है. वह गलत है जिस तरीके से विपक्ष और अन्य दलों को भरोसे में नहीं लिया गया बिना जानकारी के हटाया गया वह तरीका सही नहीं था.