Jaipur: DM की हिदायत-फैक्ट्री से निकले Oxygen Cylinder सीधे अस्पताल ही पहुंचे

Jaipur News: जिला कलेक्टर ने गैस आपूर्तिकर्ताओं को हिदायत देते हुए कहा कि यदि किसी भी आपूर्तिकर्ता द्वारा निर्देशों की अनुपालना नहीं की गई तो उसके विरूद्ध आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 एवं राजस्थान महामारी अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी

Jaipur: DM की हिदायत-फैक्ट्री से निकले Oxygen Cylinder सीधे अस्पताल ही पहुंचे
डीएम ने ऑक्सीजन सिलेंडर को लेकर अधिकारियों को हिदायत दी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Jaipur: जयपुर में लगातार कोरोना वायरस संक्रमण तेजी से फैल रहा है और अस्पतालों में मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है. जयपुर जिला प्रशासन ने मरीजों को बेड और ऑक्सीजन समय पर मिले इसके लिए अलग-अलग अधिकारियों को जिम्मेदारी तय कर दी है. कोरोना वायरस के संक्रमण फैलने के दौरान मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत पड़ रही है इसके अलावा भी अन्य मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत होती है. इसलिए इस बात का ध्यान रखें कि जो सिलेंडर फैक्टरी से अस्पताल के लिए निकल रहे हैं, वे सीधे अस्पताल ही पहुंचे.

जयपुर जिले में मेडिकल ऑक्सीजन गैस सिलेंडर की निर्वाध आपूर्ति बनाए रखने के लिए जिला कलेक्टर अंतरा सिंह नेहरा की अध्यक्षता में जिला कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक आयोजित की गई. नेहरा ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण की दर तेजी से बढ़ने के कारण मेडिकल ऑक्सीजन की मांग में काफी बढ़ोतरी हुई है. इसके लिए जरूरी है कि मेडिकल ऑक्सीजन की सतत आपूर्ति की जाए और गैस सिलेंडर की सप्लाई व्यवस्था सुचारू रूप से चलनी चाहिए. इसके लिए सभी आपूर्तिकर्ताओं द्वारा प्राथमिकता के साथ कार्य किया जाना चाहिए.

ये भी पढ़ें-Rajasthan: Weekend Curfew में इन सेवाओं को मिलेगी राहत, यहां जाने किसे मिलेगी छूट

 

300 D-टाइप मेडिकल ऑक्सीजन गैस सिलेंडर का स्टॉक रखने के निर्देश
जिला कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा ने सहायक औषधि नियंत्रक को निर्देश दिए कि कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए आपातकालीन परिस्थिति में उपयोग करने हेतु कम से कम 300 डी-टाइप मेडिकल ऑक्सीजन गैस सिलेंडर का बफर स्टोक रखना सुनिश्चित करें. इसके साथ ही किसी भी आपातकालीन स्थिती में उपयोग करने हेतु जिले में ऐसे फैक्ट्री, कारखाने, उद्यौग, जिसमें मेडिकल ऑक्सीजन गैस का उत्पादन किया जाता हैं. उनको चिन्हित कर सूची बनाकर तैयार रखा जााए ताकि आवश्यकता होने पर अधिग्रहण किया जा सके.

आदेशों का पालन नहीं तो होगी कार्रवाई
जिला कलेक्टर ने गैस आपूर्तिकर्ताओं को हिदायत देते हुए कहा कि यदि किसी भी आपूर्तिकर्ता द्वारा निर्देशों की अनुपालना नहीं की गई तो उसके विरूद्ध आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 एवं राजस्थान महामारी अधिनियम (Disaster Management Act 2005 and Rajasthan Pandemic Act) के तहत कार्रवाई की जाएगी. बैठक में अतिरिक्त जिला कलेक्टर (प्रथम) इकबाल खान, अतिरिक्त जिला कलक्टर (चतुर्थ)  अशोक कुमार सहित औषधि नियंत्रक और विभिन्न गैस आपूर्तिकर्ता उपस्थित रहे.

ये भी पढ़ें-Corona पर Ashok Gehlot का बड़ा बयान, संक्रमण के लिए हम राजनेता भी कुछ हद तक दोषी