जयपुर: कलराज मिश्र आम आदमी की तरह पहुंचे मोतीडूंगरी मंदिर, नहीं ली पुलिस सुरक्षा

कलराज मिश्र ने पुलिस जाब्ता लेने से भी मना कर दिया और साधारण आदमी के जैसे मंदिर पहुंचे. उनके लिए किसी जगह ट्रैफिक नहीं रोका गया.

जयपुर: कलराज मिश्र आम आदमी की तरह पहुंचे मोतीडूंगरी मंदिर, नहीं ली पुलिस सुरक्षा
कलराज मिश्र दोपहर 1.10 बजे राज्यपाल पद की शपथ लेंगे.

जयपुर: नवनियुक्त राज्यपाल कलराज मिश्र ने शपथ ग्रहण से पहले प्रथम पूज्य मोतीडूंगरी गणेश मंदिर पहुंचे. जहां पत्नी सत्यवती मिश्र के साथ पूजा अर्चना की. उन्होंने प्रदेश की खुशहाली की कामना की. कलराज मिश्र दोपहर 1.10 बजे राज्यपाल पद की शपथ लेंगे. इस दौरान 800 से ज्यादा मेहमान मौजूद रहेंगे. जिसमें करीब 400 मेहमान नवनियुक्त राज्यपाल कलराज मिश्र के मौजूद रहेंगे. 

कलराज मिश्र आमजन के जैसे पहुंचे मोतीडूंगरी
नवनियुक्त राज्यपाल मिश्र के लिए राजभवन में अशोक स्तम्भ लगी गाड़ी लगाई तो उन्होंने मना कर दिया और कहा कि हमें लोगों की सुविधा का ध्यान रखना है. इसलिए साधारण गाड़ी लगाओ. उन्होंने पुलिस जाब्ता लेने से भी मना कर दिया और साधारण आदमी के जैसे मंदिर पहुंचे. उनके लिए किसी जगह ट्रैफिक नहीं रोका गया. रामबाग लाल बत्ती पर उनकी गाड़ी रुकी रही.

jaipur

गाड़ी रूकी देखकर लोग आश्चर्यचकित
राज्यपाल कलराज मिश्र को रामबाग चौराहे पर रूके हुए देखा तो लोगों ने आश्चर्य जताया. मिश्र की गाड़ी के पीछे मोटर साइकिल पर बैठा एक बच्चा जोर से बोला की पापा देखो यह नये राज्यपाल हैं. बच्चा और पिता ही नहीं हर आदमी उनके इस व्यवहार से आश्चर्यचकित था. गौरतलब है कि राज्यपाल कल्याण सिंह ने भी गार्ड ऑफ ऑनर को हटाया था. इसके साथ ही उन्होंने राज्यपाल के आगे महामहिम शब्द लगाने को भी हटाया था. जिसके चलते उनकी काफी तारीफ भी हुई थी. 

jaipur

बता दें कि कलराज मिश्र इससे पहले मोदी सरकार में 2017 तक सूक्ष्‍म, लघु और उद्यम मंत्री (एमएसएमई) रहे. वह तीन बार राज्‍यसभा के भी सदस्‍य रहे. कलराज मिश्र ने 2019 के चुनाव से पहले उन्‍होंने इस बार का लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान करते हुए कहा था कि पार्टी ने कई अन्‍य अहम जिम्‍मेदारियां उनको दी हैं, लिहाजा उनको पूरा करने के लिए वह चुनाव नहीं लड़ेंगे. वहीं 2017 में कलराज मिश्र ने मंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया था. आधिकारिक तौर पर कलराज मिश्र ने लोकसभा चुनाव (Lok sabha elections 2019) नहीं लड़ने का ऐलान किया था. हालांकि उस समय मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके कलराज मिश्र को हरियाणा का चुनाव प्रभारी बनाया गया था.