जयपुर: पतंगबाज़ी से दो बार प्रभावित हुआ मेट्रो का संचालन, इलेक्ट्रिक पोल में फंसा था मांझा

पूरे दिन भर में 2 बार मेट्रो का संचालन प्रभावित हो चुका है हालांकि मेट्रो प्रशासन ने बिना बाधा के तय समय में यात्रा पूरी की. मेट्रो इलेक्ट्रिक पोल में मांझा फंसने से ट्रेन प्रभावित हुई थी.

जयपुर: पतंगबाज़ी से दो बार प्रभावित हुआ मेट्रो का संचालन, इलेक्ट्रिक पोल में फंसा था मांझा
जयपुर में इस महापर्व पर पतंगों के पेंच जमकर लड़ाए जा रहे हैं.

जयपुर: पूरे देश में कहीं आज मकर संक्रांति की धूम है तो कहीं कल यानी की 15 जनवरी को मनाई जाएगी. वहीं, जयपुर में इस महापर्व पर पतंगों के पेंच जमकर लड़ाए जा रहे हैं. 

इसके चलते पूरे दिन भर में 2 बार मेट्रो का संचालन प्रभावित हो चुका है हालांकि मेट्रो प्रशासन ने बिना बाधा के तय समय में यात्रा पूरी की. मेट्रो इलेक्ट्रिक पोल में मांझा फंसने से ट्रेन प्रभावित हुई थी.

दरअसल, मकर संक्रांति का त्योहार आते ही पतंगबाजी के शौकीन बच्चे और युवाओं के सिर पतंगबाजी का जुनून चढ़ जाता है. पतंगबाजी के दौरान रेलवे ट्रेक पर कोई पतंगबाजी नहीं करें. इसके लिए रेलवे ने निर्देश तो जारी कर दिए लेकिन किसी रेलवे पुलिसकर्मियों की ड्यूटियां गश्त के लिए नहीं लगाई. कोई गश्त नहीं होने के कारण सिविल लाइन फाटक के पास छोटे-छोटे बच्चे रेलवे ट्रैक पर पतंगबाजी करते नजर आए. 

बच्चे रेलवे ट्रैक पर पतंगबाजी करते रहे. रेलवे जंक्शन के नजदीक होने के बावजूद भी वहां उन्हें कोई टोकने वाला नहीं था. बच्चे पतंग लेकर पटरियों पर बैठे रहे जबकि जंक्शन होने के कारण यहां लगातार ट्रेनों का आवागमन होता रहता है लेकिन बच्चे मौत की परवाह किए बिना पतंगबाजी करते नजर आए. 

गौरतलब है कि पतंगबाजी को लेकर आए दिन दुर्घटनाओं के मामले आते रहते हैं. इसके बावजूद यहां अधिकारियों की लापरवाही के चलते बच्चे पतंग लूटने के लिए पटरियों पर भागते भी नजर आए.