Jaipur: गंदगी फैलाना अब पड़ेगा महंगा, 100-5000 रुपए तक भरना पड़ेगा जुर्माना

Jaipur Samachar: नगर निगम ने सार्वजनिक स्थलों पर पोस्टर चिपकाने, पेंटिंग करने या अन्य तरीके से उसे बदरंग करने वालों के खिलाफ 2 हजार रुपए जुर्माने का प्रावधान रखा है.

Jaipur: गंदगी फैलाना अब पड़ेगा महंगा, 100-5000 रुपए तक भरना पड़ेगा जुर्माना
नगर निगम अब गंदगी फैलाने वालों से जुर्माना वसूलेगा. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Jaipur: अगर आप जयपुर शहर में कहीं भी (सड़क, पार्क या खुले सार्वजनिक स्थान) पर कचरा डालते है या गंदगी फैलाते है तो सावधान हो जाए. ऐसा करने पर आपको 100 रुपए से लेकर 5 हजार रुपए तक का जुर्माना भरना पड़ सकता है. नगर निगम जयपुर ग्रेटर (Jaipur Nagar Nigam Greater) आयुक्त ने एक आदेश जारी किए है, जिसमें कचरा और गंदगी फैलाने वालों पर जुर्माना राशि निर्धारित की 

इसके साथ ही सभी जोन के अधिकारियों को लक्ष्य भी दिया है कि वह हर रोज कम से कम 10 लोगों का जुर्माना जरूर काटना होगा. ऐसे में अब नगर निगम के आदेशों पर सवाल भी उठ रहे हैं कि जब शहर में डोर-टू-डोर (Door To Door) कचरा संग्रहण का काम कर रही बीवीजी (BVG) कंपनी अपना काम सही ढंग से नहीं कर रही तो, उस पर शिकंजा कसने की बजाय जनता पर क्यों जुर्माना लगाने का प्रावधान किया गया है. जबकि बीवीजी कंपनी से जनता, जनप्रतिनिधि और अफसर सभी परेशान हो चुके हैं.

ये भी पढ़ें-CM Gehlot का बड़ा फैसला, पंचायती राज के 9000 Junior clerks को जल्द मिलेगी पदोन्नति

 

      ये लगेगा जुर्माना 

  • आवासीय भवनों से रोड या गली में कचरा डालने पर 100 रुपए.
  • दुकानों से रोड पर कचरा डालने पर 1,000 रुपए.
  • रेस्टोरेंट या होटल संचालकों की ओर से कचरा डालने पर 2 हजार रुपए.
  • औद्योगिक ईकाइयों की ओर से कचरा डालने पर 5 हजार रुपए.
  • चाट पकड़ी, चाय, ज्यूस, सब्जी इत्यादि का व्यवसाय ठेले पर करने वाला अगर कचरा फैलाता है तो उससे 100 रुपए.
  • सार्वजनिक स्थल पर थूकने, खुले पर पेशाब करने पर 200 रुपए.

वहीं, कचरा फैलाने वाल के अलावा सार्वजनिक सम्पत्तियों को गंदा करने वालों की भी खैर नहीं है. नगर निगम प्रशासन ने सार्वजनिक स्थलों पर पोस्टर चिपकाने, पेंटिंग करने या अन्य तरीके से उसे बदरंग करने वालों के खिलाफ 2 हजार रुपए जुर्माने का प्रावधान रखा है. 

इसके अलावा पानी, सीवर या अन्य लाइन डालने के लिए कोई व्यक्ति बिना अनुमति रोड कटिंग करता है तो उसे 5 हजार रुपए तक का जुर्माना देना पड़ जाएगा. इसी तरह नाई या सैलून की दुकान से हेयरकट का कचरा सड़क पर डालते पकड़े जाने पर दुकानदार को 500 रुपए तक का जुर्माना देना पड़ेगा.

ये भी पढ़ें-Govind Singh Dotasra का केंद्र सरकार पर हमला, बोले- किसानों के लिए बहरी-गूंगी हो गई

 

इन आदेशों में कचरा डालने या गंदगी फैलाने के अलावा जो व्यक्ति प्लास्टिक वेस्ट को जलाएगा या उसे सार्वजनिक स्थान पर फैंकेगा उस पर उसे भी जुर्माना देना पड़ेगा. प्लास्टिक कचरा जलाते पकड़े जाने पर व्यक्ति पर 500 रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा. इसी तरह प्लास्टिक कचरा सड़क पर फेंकते पकड़े जाने पर एक हजार रुपए तक का जुर्माना देना पड़ सकता है.  

स्वच्छता सर्वेक्षण से पहले नगर निगम अपनी रैंकिंग को सुधारने के लिए तमाम संसाधन और मशीनरी को फील्ड में लगा देता है. 3 साल पहले नगर निगम ने सब्जी मंडी से लेकर बाजारों में डस्टबिन रखवाए, जिससे दुकानदार कचरा उस डस्टबीन में डाले. लेकिन अब ये डस्टबीन दुकानों के बाहर से गायब हो गए है और इन दुकानों का कचरा फिर से सड़कों पर आने लगा है.