Jaipur News: सड़क सुरक्षा को लेकर CM Gehlot गंभीर, बेसिक लाइफ सपोर्ट ट्रेनिंग प्रोग्राम की SMS में शुरुआत

राजस्थान (Rajasthan News) में हर साल सड़क दुर्घटनाओं (Road accidents) में लगभग 10 हज़ार 500 व्यक्तियों की मौत और लगभग 22000 व्यक्ति घायल हो रहे हैं. 

Jaipur News: सड़क सुरक्षा को लेकर CM Gehlot गंभीर, बेसिक लाइफ सपोर्ट ट्रेनिंग प्रोग्राम की SMS में शुरुआत
फाइल फोटो

Jaipur: राजस्थान (Rajasthan News) में हर साल सड़क दुर्घटनाओं (Road accidents) में लगभग 10 हज़ार 500 व्यक्तियों की मौत और लगभग 22000 व्यक्ति घायल हो रहे हैं. अक्सर यह देखा गया है कि सड़क दुर्घटना होने पर यदि सही समय पर घायल व्यक्ति को सही प्राथमिक उपचार गिले तो कई व्यक्तियों का जीवन बचाया जा सकता है. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) सड़क सुरक्षा को लेकर बेहद गंभीर भी है. इसीलिए सड़क सुरक्षा प्रकोष्ठ (Road safety cell), परिवहन विभाग (Transport Department) द्वारा सड़क सुरक्षा कोष से लगभग 22 लाख रूपये की सहायता से Basic Life Support (BLS) प्रशिक्षण कार्यक्रम एसएमएस अस्पताल के ट्रोमा सेंटर में शुरू किया गया है, जहां मनिकिन (Manikin) और अन्य आवश्यक उपकरणों की मदद से लाइफ सपोर्ट सिस्टम की ट्रेनिंग दी जा रही है.

ये भी पढ़ें: राजस्थान: AIIMS की तर्ज पर विकसित होगा SMS अस्पताल, होंगी यह खास सुविधाएं...

इस ट्रेनिंग में पुलिस, परिवहन विभाग, हाईवे विभाग की टीमें, मेडिकल टीमों को विशेष ट्रेनिंग दी जाएगी. इसके साथ ही स्कूल व कॉलेज के विद्यार्थियों तथा आमजन को भी प्रशिक्षण दिया जायेगा. इस ट्रेनिंग कार्यक्रम की शुरुआत में ट्रांसपोर्ट कमिश्नर रवि जैन, SMS मेडिकल कॉलेज प्रिंसीपल डॉ सुधीर भंडारी, SMS अस्पताल अधीक्षक डॉ. राजेश शर्मा मौजूद रहे.

बातचीत करते हुए एक्सपर्ट्स डॉ. गिरधर गोयल और नर्सिंग इंचार्ज राजकुमार 
चिकित्सकों एवं नर्सिंग स्टाफ की ट्रोमा केयर के प्रशिक्षण हेतु समर्पित सड़क सुरक्षा कोष से लगभग राशि रू. 490.00 लाख की स्किल लैब एवं सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल व्यक्तियों के उपचार हेतु राशि रू. 900.00 लाख के 16 बेड की गहन चिकित्सा इकाई (I.C.U) की स्थापना की जा चुकी है. जिसका लोकार्पन मुख्यमंत्री (Chief Minister) द्वारा किया गया है.

इसी प्रकार समर्पित सड़क सुरक्षा कोष से प्रदेश में ट्रोमा केयर सुविधाओं के लिये 60 ट्रोमा स्टेबिलाईजेशन यूनिट प्राईमरी ट्रोमा सेन्टर की स्थापना का कार्य भी प्रक्रियाधीन है. साथ ही समर्पित सड़क सुरक्षा कोष से राज्य के शेध 8 संभागों में निकट भविष्य में इसी प्रकार के BLS Training Center स्थापित किये जाये.

ये भी पढ़ें: राजस्थान में प्लाज्मा डोनेट करने से घबरा रहे लोग, डॉक्टरों ने की यह अपील...