Rajasthan PHED के लिए खुशखबरी, प्रमोशन के साथ रिक्त पदों पर भी होंगी भर्तियां

जलदाय विभाग को प्रमोशन के बाद 4 चीफ इंज़ीनियर, 14 एडिशनल चीफ इंज़ीनियर, 68 अधीक्षण अभियंता बनाए हैं. 

Rajasthan PHED के लिए खुशखबरी, प्रमोशन के साथ रिक्त पदों पर भी होंगी भर्तियां
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Jaipur: एक बार फिर से ज़ी मीडिया की खबर का बड़ा असर हुआ है. सालभर से पीएचईडी (PHED) में इंज़ीनियर्स की डीपीसी नहीं हो पा रही थी लेकिन आरपीएससी (Rajasthan Public Service Commission) ने डीपीसी की मंजूरी दे दी है. इसके बाद पीएचईडी (Public Health Engineering Department) में प्रमोशन की लिस्ट जारी कर दी, जिसमें अब जलदाय विभाग को चार चीफ इंज़ीनियर भी मिले.

यह भी पढ़ें-राजस्थान: दो साल बाद इंजीनियर्स के हुए प्रमोशन तो अब अटकीं नियुक्तियां

 

4 नए मुखिया मिले पीएचईडी को
राजस्थान (Rajasthan) की 7 करोड़ आबादी को पानी पिलाने वाले जलदाय विभाग (Water supply department) में केवल 50 फीसदी ही इंज़ीनियर्स थे लेकिन ज़ी मीडिया (ZEE Media) की खबर के बाद अब इंज़ीनियर्स की भर्ती भी होगी और प्रमोशन का हल भी सुलझा. इतना ही नहीं, विभाग को चार नए मुखिया भी मिले हैं. पीएचईडी में रमेश चंद्र मिश्रा (Ramesh Chandra Mishra), दिनेश गोयल (Dinesh Goyal), दिलीप कुमार गौड़ (Dileep Kumar Gaud) और सत्येंद्र सिंह (Satyendra Singh) को चीफ इंज़ीनियर बनाया जाएगा. चीफ इंज़ीनियर्स की कुर्सी के विवाद खत्म होने के साथ-साथ विभाग में जेईएन से लेकर एडिशनल चीफ इंज़ीनियर के प्रमोशन भी होंगे.

यह भी पढ़ें- गर्मियों से पहले पेयजल स्कीम के लिए राजस्थान ने कसी कमर, बजट एक बार फिर बना रोड़ा

 

उम्मीद नहीं थी इस साल होगी डीपीसी
जलदाय विभाग को प्रमोशन के बाद 4 चीफ इंज़ीनियर, 14 एडिशनल चीफ इंज़ीनियर, 68 अधीक्षण अभियंता बनाए हैं. विभाग में सालभर से प्रमोशन अटका हुआ था हालांकि इंज़ीनियर्स को उम्मीद नहीं थी. विभाग इसी साल प्रमोशन कर देगा. इसके अलावा जलदाय विभाग में खाली पदों पर भी जल्द ही भर्तियां होगी, जिससे इंज़ीनियर्स की किल्लत कम होगी. पीएचईडी में एईएन के 312 और जेईएन के 177 पदों प्रक्रियाधीन हैं, जल्द ही विभाग में नियुक्तियां दी जाएंगी.

ऐसे में सरकार के इस फैसले से निश्चित तौर पर प्रोजेक्ट में तेज़ी आएगी, जिससे राजस्थान में जल से जुड़े प्रोजेक्ट से प्रभावित इलाकों में पानी मिल सकेगा.