Jaipur News: सरकार के साथ चौथे दौर की वार्ता विफल, लिखित आश्वान पर अड़े बेरोजगार

महासंघ अध्यक्ष उपेन यादव (Upen Yadav) ने चेतावनी दे दी है कि अगर 2 दिनों में उनकी मांगों को लेकर कोई सहमति नहीं बनती है तो सभी भर्तियों से जुड़े हुए बेरोजगारों को जयपुर में एकत्रित किया जाएगा और जयपुर (Jaipur) में विशाल आंदोलन किया जाएगा.

Jaipur News: सरकार के साथ चौथे दौर की वार्ता विफल, लिखित आश्वान पर अड़े बेरोजगार
9 दिनों से धरना महिलाएं अपने बच्चों के साथ धरने पर बैठी हैं.

Jaipur: 15 फरवरी को अपनी विभिन्न मांगों को लेकर करीब एक दर्जन भर्तियों से जुड़े हुए सैंकड़ों बेरोजगारों ने जयपुर (Jaipur) में धरना शुरू किया. महज 4 घंटे की अनुमति पर शुरू हुआ ये धरना पहले महापड़ाव में बदला तो दूसरे ही दिन आमरण अनशन में बदल गया लेकिन चार दौर की वार्ता विफल होने के बाद अब ये धरना आंदोलन (Andolan) में तब्दील होता हुआ नजर आ रहा है.

यह भी पढ़ें- Jaipur के शहीद स्मारक पर 8 दिन से जारी है 'बेरोजगारों का धरना', दी आंदोलन की चेतावनी

बीती रात मंत्री सुभाष गर्ग (Subhash Garg) की अध्यक्ष में राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ (Rajasthan Unemployed Integrated Federation) के बैनर तले प्रतिनिधिमंडल की वार्ता रही लेकिन ढाई घंटे बाद की वार्ता विफल रही थी, जिसके बाद बेरोजगारों ने अपने धरने और आमरण अनशन को जारी रखने की घोषणा की थी.

यह भी पढ़ें- राजस्थान में बेरोजगार महासंघ ने किया प्रदर्शन, कहा- 'मांगें नहीं मानी गई तो होगा आंदोलन'

अब महासंघ अध्यक्ष उपेन यादव (Upen Yadav) ने चेतावनी दे दी है कि अगर 2 दिनों में उनकी मांगों को लेकर कोई सहमति नहीं बनती है तो सभी भर्तियों से जुड़े हुए बेरोजगारों को जयपुर में एकत्रित किया जाएगा और जयपुर (Jaipur) में विशाल आंदोलन किया जाएगा.

क्या कहना है महिला बेरोजगारों का
साथ ही धरने पर बैठी महिला बेरोजगारों का कहना है कि 9 दिनों से धरना महिलाएं अपने बच्चों के साथ धरने पर बैठी हैं लेकिन इसके बाद भी सरकार सुनने का नाम नहीं ले रही है. पिछले 8 सालों से भर्ती को लेकर संघर्ष किया जा रहा है. कई बार आश्वासन मिला है लेकिन इस बार जब तक लिखित में आश्वासन नहीं मिलता है तब तक धरना और आमरण अनशन खत्म नहीं किया जाएगा.