Jaipur: 250 करोड़ का मुफ्त पानी पी गई शहरी सरकार, UDH-PHED मंत्री के रीजन सबसे आगे

 शहरी निकायों ने जलदाय विभाग को 250 करोड़ के बिलों का भुगतान नहीं किया, जिसमें से सार्वजनिक जलों के 193 करोड़ और शहरी निकायों के दफ्तरों के 56 करोड़ बकाया हैं. 

Jaipur: 250 करोड़ का मुफ्त पानी पी गई शहरी सरकार, UDH-PHED मंत्री के रीजन सबसे आगे
शहरी सरकार ने ढाई सौ करोड़ के बिलों का भुगतान ही नहीं किया.

Jaipur: राजस्थान (Rajasthan) में शहर की सरकार मुफ्त का पानी पी रही है. ऐसा इसलिए क्योंकि शहरी सरकार ने ढाई सौ करोड़ के बिलों का भुगतान ही नहीं किया. 

यह भी पढ़ें- Rajasthan के 9 जिलों में दूर होगा पेयजल संकट, सरकार ने दी 50-50 लाख रुपये की मंजूरी

खास बात ये है कि स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल (Shanti Dhariwal) और जलदाय मंत्री बीडी कल्ला (BD Kalla) के गृह जिलों में सबसे ज्यादा मुफ्त का पानी पी रहे. 

यह भी पढ़ें- Jaipur के लिए तीन पेयजल परियोजनाओं को मिली स्वीकृति, खत्म होगा जल संकट

 

जनता से सीख लो सरकार
एक तरफ राजस्थान की शहर की जनता ने लॉकडाउन और विषम परिस्थितियों के बीच 610 करोड़ में से 512 करोड़ के पानी के बिलों का भुगतान कर अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाई, लेकिन दूसरी तरफ इसी राजस्थान की शहरी सरकार है, जो मुफ्त का पानी पीने में पीछे नहीं हट रहा. शहरी निकायों ने जलदाय विभाग को 250 करोड़ के बिलों का भुगतान नहीं किया, जिसमें से सार्वजनिक जलों के 193 करोड़ और शहरी निकायों के दफ्तरों के 56 करोड़ बकाया हैं. सबसे खास बात ये है कि स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल के गृह जिले कोटा रीजन में सबसे ज्यादा मुफ्त का पानी रहे हैं जबकि वसूली में भी कोटा फिसड्डी साबित हुआ. पानी का बिल जमा ना करवाने में जलदाय मंत्री बीडी कल्ला का गृह जिला बीकानेर रीजन भी पीछे नहीं है.

ये 5 रीजन, जहां मुफ्त का सबसे ज्यादा पानी पी रही शहरी सरकार
 

jaipur news Urban bodies did not pay 250 crore bills to Department of Water

सार्वजनिक जल के बिलों में ये रीजन शून्य
स्वायत्त शासन विभाग ने 250 करोड़ के बिलों में से पीएचईडी को सिर्फ 41 लाख जमा करवाए हैं. सार्वजनिक जल संबंधों में जयपुर प्रथम, भरतपुर, जोधपुर प्रथम, जोधपुर द्वितीय, अलवर रीजन में शहरी सरकार पानी का बिला जमा करवाने में शून्य रही.