जयपुर: राशन कार्डधारियों की पोर्टेबिलिटी व्यवस्था बन्द, अब 30 दिन मिलेगा राशन

अब हर महीने की 1 से 15 तारीख तक राशन दुकानें पूरे दिन खुलेगी और 16 से 30 तारीख तक 3 घंटे दुकाने राशन डीलर को खोलनी होंगी.

जयपुर: राशन कार्डधारियों की पोर्टेबिलिटी व्यवस्था बन्द, अब 30 दिन मिलेगा राशन
बायपास राशन कार्डधारियों की पोर्टेबिलिटी की व्यवस्था बन्द की जाएगी.

जयपुर: राशन की दुकान से राशन लेने वालों के लिए राहत की खबर है. अब राशन की दुकानों पर पूरे 30 महीने उपभोक्ता राशन ले सकेंगे. खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री रमेश मीणा ने इंदिरा गांधी पंचायत राज में सभी जिला रसद अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि आम उपभोक्ता को उसके हक का निवाला समय पर मिलना चाहिए. इसके लिए हर महीने की 1 से 15 तारीख तक राशन दुकानें पूरे दिन खुलेगी और 16 से 30 तारीख तक 3 घंटे दुकाने राशन डीलर को खोलनी होंगी.

बता दें कि, प्रदेश में राशन सामग्री के डायवर्जन पर अंकुश लगाने के लिए बायपास राशन कार्डधारियों की पोर्टेबिलिटी की व्यवस्था बन्द की जाएगी. केवल रसद अधिकारी और एसडीएम के सत्यापन के बाद ही राशन ऐसे उपभोक्ताओं को राशन दिया जाएगा. साथ ही जल्द ही गैर सार्वजनिक वितरण प्रणाली (नॉन पीडीएस) के माध्यम से उचित मूल्य की दुकानों से निर्धारित खाद्य सामग्री का वितरण शीघ्र किया जाएगा. जिसकी शुरूआत शहरी क्षेत्र में स्थित उचित मूल्य की दुकानों से की जाएगी. 

उधर, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना में चयनित सरकारी कार्मिकों के खिलाफ पुलिस थाने में प्राथमिकी दर्ज की जाएगी. साथ ही संबंधित विभागाध्यक्ष को कार्यवाही करवाने के प्रस्ताव भिजवाने के निर्देश दिए जाएंगे. हाल ही में करौली जिले में ऐसा ही एक मामला आया था. जहां सरकारी शिक्षक का नाम खाद्य सुरक्षा सूची में था. उसके खिलाफ मामला दर्ज करवाकर विभाग को कार्रवाई के लिए लिखा था. अब उसे निलम्बित कर दिया गया है. वहीं खाद्य सुरक्षा सूची में चयनित लाभार्थियों का भौतिक सत्यापन शत-प्रतिशत और पात्र परिवारों को जोड़ने और खाद्य सुरक्षा सूची में दर्ज मृतक व्यक्तियों के नाम हटाने के लिए आवश्यक कार्यवाही की जाएगी.

खाद्य सचिव सिद्धार्थ महाजन ने कहा कि FCI से जो गेहूं का उठाव और वितरण किया जाता है ऎसे वाहनों पर जीपीएस लगाया जायेगा. जिससे प्रदेश में गेहूं के उठाव एवं वितरण में पारदर्शिता बनाई जा सके. विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे उचित मूल्य की दुकानों पर सही मात्रा में सही समय पर गेहूं की आपूर्ति करवाया जाना सुनिश्चित करें. महाजन ने कहा कि राज्य सरकार की मंशानुसार मृतक राशन डीलरों के आश्रितों को अनुकम्पात्मक उचित मूल्य दुकान की नियुक्ति शीघ्र देने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए. राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा सूची में नाम जुड़वाने के लिए जो अपील की जाती है उसका शीघ्र निस्तारण और नवसृजित की जाने वाली राशन की दुकानों की सूचना शीघ्र भेजी जाए.