close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: बारिश ने लौटाई मावठा सरोवर की रौनक, आमेर महल की शान पर लगे चार चांद

यपुर के आमेर महल की शान पर चार चांद लगाने वाले मावठा सरोवर की चांदनी अब फिर से लौट रही है. अब फिर से आमेर का मावठा पानी से मुस्कुरा उठेगा. 

जयपुर: बारिश ने लौटाई मावठा सरोवर की रौनक, आमेर महल की शान पर लगे चार चांद
आमेर मावठे की कुल भराव क्षमता लगभग 300 मिलियन लीटर है.

जयपुर: आमेर मावठे की सुदंरता फिर से लौट आएगी,वो इसलिए क्योकि अब मावठा भी पानी से लबालब भरा रहेगा.जिस कारण आसपास के कुंए,बावडिया,तालाब और ट्यूबवेल्स में पानी का रिचार्ज भी बढ जाएगा.इसके साथ साथ भूजल स्तर पर भी जो खतरा मंडरा रहा था,वो खतरा भी अब खत्म हो जाएगा.जी मीडिया की मुहिम के बाद में आमेर मावठे को फिर से बीसलपुर के पानी से भरने की कवायद शुरू हो गई है.

जयपुर के आमेर महल की शान पर चार चांद लगाने वाले मावठा सरोवर की चांदनी अब फिर से लौट रही है. कभी मावठे के पानी में आमेर दुर्ग की साफ तस्वीर दिखाई देती थी, लेकिन अब फिर से आमेर का मावठा पानी से मुस्कुरा उठेगा. जी मीडिया की खबर के बाद में प्रशासन ने आमेर मावठे की बूखसूरती फिर से निभारने का फैसला लिया है. फिर से आमेर मावठे को बीसलपुर बांध के पानी से भरा जाएगा,ताकि इसकी सुंदरता फिर से दमक सके और ड्रेनेज सिस्टम उपर उठ सके.हालांकि जलदाय विभाग के अतिरिक्त चीफ इंजीनियर देवराज सौलंकी को तो ये तक पता नहीं था कि मावठे को बीसलपुर परियोजना को जोड भी रखा है या नहीं.लेकिन जी मीडिया ने जब मुद्दा उठाया तो पुरानी पाइनलाइने फिर से मिल गई.

अब केवल पुरानी पाइप लाइन ही नहीं मिली, बल्कि ये लाइन बिल्कुल ठीक भी पाई गई. जलदाय विभाग ने जी मीडिया द्धारा उठाए गए मुद्दे को भी सही माना है. जलदाय विभाग ने माना है कि आमेर के मावठे को बीसलपुर से भरने के लिए प्रायोगिक तौर पर किए जा रहे परीक्षण से यदि मावठा पूरी तरह भर जाता है तो इस स्थिति में अजमेर और जयपुर जिले को उपलब्ध कराए जा रहे पेयजल की मात्रा पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा. वहीं दूसरी ओर मावठे में पानी आने से स्थानीय आमजन, वन्यजीव और पर्यावरण को लाभ होगा. साथ ही इस क्षेत्र में ग्राउण्ड वाटर रिचार्ज भी होगा.जी मीडिया इस मुहिम को आमेर के लोगों ने सराहा.

जयपुर में आमेर के मावठे को बीसलपुर बांध से भरने के लिए किए जा रहे प्रयास के बाद में इसको पूर्ण क्षमता तक भर दिये जाने से स्थानीय स्रोतों के जलस्तर में 5 से 6 मीटर तक की वृद्धि संभावित है. वर्तमान में बीसलपुर बांध में पूर्ण भराव क्षमता तक पानी उपलब्ध है, आमेर मावठे की कुल भराव क्षमता लगभग 300 मिलियन लीटर है, जो कि बीसलपुर बांध से जयपुर शहर को एक दिन की आपूर्ति के बराबर है.ऐसे में अब धीरे धीरे आमेर मावठे को भरने की योजना बनाई जा रही है.

(इनपुट-दामोदर प्रसाद,आशीष चौहान)