जयपुर: पंचायत चुनाव को लेकर सचिन पायलट ने निर्वाचन आयोग को लिखा खत, कहा...

आयोग ने पूर्व में चौथे चरण के लिए 22 जनवरी को लोक सूचना जारी करने का आदेश दिया था. इधर, उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद पंचायत चुनावों को लेकर बाधा नहीं है.

जयपुर: पंचायत चुनाव को लेकर सचिन पायलट ने निर्वाचन आयोग को लिखा खत, कहा...
सचिन पायलट ने कहा कि कोर्ट के निर्णय क बाद पंचायत चुनाव में अब कोई बाधा नहीं रह गई है.

जयपुर: सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आने के बाद पंचायत चुनाव तय समय पर करवाने के लिए राज्य सरकार सक्रिय हो गई है. उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि कोर्ट के निर्णय क बाद पंचायत चुनाव में अब कोई बाधा नहीं रह गई है, ऐसे में राज्य निर्वाचन आयोग को चुनाव समय पर करवाने चाहिए. पायलट ने इस सम्बंध में राज्य  निर्वाचन आयुक्त पीएस मेहरा को पत्र भी लिखा है.

वहीं, राजस्थान में पंचायत चुनाव को लेकर इन दिनों भ्रम की स्थिति बनी हुई है. राज्य निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव केचौथे चरण के चुनावी कार्यक्रम पर आगामी आदेशों तक रोक लगा रखी है. पहले के तीन चरणों में भी नवगठित पंचायतों में चुनाव नहीं होंगे. ऐसे में पहले के तीन चरणों में जिन पंचायतों में चुनाव कराया जाना प्रस्तावित था उनकी संख्या भी घट गई है. 

आयोग ने पूर्व में चौथे चरण के लिए 22 जनवरी को लोक सूचना जारी करने का आदेश दिया था. इधर, उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद पंचायत चुनावों को लेकर बाधा नहीं है. निर्वाचन आयोग का दायित्व है कि वह कार्यकाल पूरा होने से पहले चुनाव कराएं. पंचायत चुनाव में सरकार आयोग को हरसंभव मदद मुहैया करवाएगी.

गौरतलब है कि, हाईकोर्ट ने प्रदेश में पंचायत पुनर्गठन के दूसरे व तीसरे चरण पर रोक लगा दी थी. जिसके बाद सरकार सुप्रीम कोर्ट चली गई थी. जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को राहत दी थी. वहीं, पंचायत चुनाव के दूसरे चरण का आगाज होने के साथ ही चुनावी रणभेरी बज चुकी है. नामांकन प्रक्रिया के पहले दिन सोमवार को जयपुर जिले की सांगानेर और गोविंदगढ़ पंचायत समिति की 80 ग्राम पंचायतों में 911 सरपंच पद के लिए नामांकन दाखिल हुए. 954 वार्डो में 2 हजार 558 उम्मीदवारो ने वार्ड पंचों के लिए नामांकन दाखिल किया.