close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: पीटीआई भर्ती के चयनित अभ्यर्थी नियुक्ति के लिए खा रहे दर-दर की ठोकरें

भर्ती को लेकर दस्तावेज सत्यापन का कार्य फरवरी में पूरा हो चुका है. उसके बाद से ही फाइनल सूची का इंतजार किया जा रहा है.

जयपुर: पीटीआई भर्ती के चयनित अभ्यर्थी नियुक्ति के लिए खा रहे दर-दर की ठोकरें
राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड की ओर से पीटीआई के 4500 पदों पर सीधी भर्ती निकाली थी.

जयपुर: 4500 पदों पर निकाली गई पीटीआई भर्ती के चयनित अभ्यर्थी पिछले 7 महीने से नियुक्ति की मांग को लेकर दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं. लेकिन नियुक्ति है कि दूर की कौड़ी साबित हो रही है. भर्ती को लेकर दस्तावेज सत्यापन का कार्य फरवरी में पूरा हो चुका है. उसके बाद से ही फाइनल सूची का इंतजार किया जा रहा है. फाइनल सूची जारी करने सहित जल्द नियुक्ति की मांग को लेकर आज चयनित बेरोजगारों ने उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के आवास पहुंचकर गुहार लगाई.

राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड की ओर से पीटीआई के 4500 पदों पर सीधी भर्ती निकाली थी. जिसकी परीक्षा का आयोजन 30 सितम्बर और परिणाम 29 जनवरी को जारी कर दिया गया था. भर्ती में तेजी दिखाते हुए बोर्ड ने 13 फरवरी से 19 फरवरी तक दस्तावेज सत्यापन का काम भी पूरा कर लिया था. लेकिन उसके बाद से ही भर्ती को पता नहीं किसकी नजर लगी कि 7 महीने बीते जाने के बाद भी भर्ती की अंतिम सूची तक जारी नहीं हो पाई. अंतिम सूची सहित नियुक्ति की मांग को लेकर उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट से गुहार लगाई.

अंतिम सूची और नियुक्ति की मांग को लेकर शिक्षा मंत्री से प्रशासन तक को गुहार लगा चुके चयनित बेरोजगारों ने बताया की भर्ती प्रक्रिया के चलते जो प्राइवेट नौकरी कर रहे थे उसको भी छोड़ दिया था. लेकिन 7 महीने बीत जाने के बाद भी बोर्ड की ओर से न तो अंतिम सूची जारी की गई और ना ही कोई कारण बताया जा रहा है. इसके साथ ही चयनित बेरोजगारों का कहना है कि अब आर्थिक हालात बहुत खराब होते जा रहे हैं. जिससे घर का खर्चा भी निकलना मुश्किल हो गया है.

बोर्ड से लेकर सरकार तक को गुहार लगा चुके सैंकड़ों बेरोजगार पिछले एक सप्ताह से जयपुर में डेरा डाले हुए हैं. लेकिन एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी अभी तक इन चयनित बेरोजगारों को उचित आश्वासन नहीं मिला है. जिसके बाद इन चयनित बेरोजगारों ने आंदोलन की चेतावनी दे डाली है.