Alwar: मॉब लिंचिंग से युवक की मौत के बाद मचा बवाल, SP बोली- आरोपियों पर होगी कार्रवाई

दूसरे पक्ष ने भी योगेश के खिलाफ एक्सीडेंट का मामला दर्ज कराया है. पुलिस अभी अनुसंधान में जुटी है. अभी तक इसमें किसी तरह की कोई गिरफ्तारी नहीं होने से परिजनों में आक्रोश बना हुआ है.

Alwar: मॉब लिंचिंग से युवक की मौत के बाद मचा बवाल, SP बोली- आरोपियों पर होगी कार्रवाई
इस घटना में दोनों पक्षों की तरफ से मामला दर्ज हुआ है.

Alwar: जिले के बड़ौदामेव में कथित तौर हुई पीट-पीट कर हत्या (Murder) के मामले में एसपी तेजस्विनी गौतम (Tejashwini Gautam) ने घटना स्थल का मौका मुआयना किया.

इस दौरान उन्होंने प्रथम दृष्टया मॉब लिंचिंग (Mob Lynching) से इनकार किया. साथ पुलिस पर लगे पक्षपात के आरोपों पर उन्होंने कहा कि इसमें अगर किसी पुलिसकर्मी की लापरवाही है तो जांच कराकर कार्यवाही की जाएगी.

यह भी पढ़ें- विशेष समुदाय ने दलित युवक की पीट-पीट कर की हत्या, ग्रामीणों ने 5 घंटे तक लगाया जाम

 

गौरतलब है भरतपुर (Bharatpur) के नगर थाना अंतर्गत भटपुरा निवासी ओमप्रकाश जाटव ने अलवर (Alwar) के बड़ौदामेव थाने ने 17 तारीख को मामला दर्ज कराया था कि 15 तारीख को उसका 17 वर्षीय बेटा योगेश बाम्बोली से अपनी बहन के घर से वापिस लौट रहा था. रास्ते में उसकी बाइक से एक बच्ची की टक्कर हो गई, जिसके बाद करीब आधा दर्जन से ज्यादा विशेष समुदाय के लोगों ने योगेश को घेर कर लाठी-डंडों से हमला कर गम्भीर रूप से घायल कर दिया था, जिसके बाद योगेश को इलाज के लिए उसे अलवर ले गए. 

मॉब लिंचिंग एक्ट में मामला दर्ज करने की उठी मांग
यहां से हालत गम्भीर होने के चलते उसे जयपुर एसएमएस रैफर कर दिया था. वहां इलाज के दौरान योगेश की 18 तारीख को मौत हो गई. उसके बाद ग्रामीणों और परिजनों ने अलवर-भरतपुर मार्ग (Alwar-Bharatpur route) को जाम करते हुए शव को सड़क पर रखकर पांच घंटे तक जाम लगाया था तथा परिजनों को 30 लाख रुपये की आर्थिक सहायता, परिवार में सरकारी नौकरी, आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तार किए जाने की मांग की गई थी. साथ ही एससीएसटी और मॉब लिंचिंग एक्ट में मामला दर्ज करने की मांग की गई. 

दोनों तरफ से दर्ज हुआ मामला
इस घटना में दोनों पक्षों की तरफ से मामला दर्ज हुआ है. दूसरे पक्ष ने भी योगेश के खिलाफ एक्सीडेंट का मामला दर्ज कराया है. पुलिस अभी अनुसंधान में जुटी है. अभी तक इसमें किसी तरह की कोई गिरफ्तारी नहीं होने से परिजनों में आक्रोश बना हुआ है चूंकि मामला विशेष समुदाय से जुड़ा है. वहीं, मृतक दलित परिवार से होने के चलते यह मामला पूरे देश मे सुर्खियों में आया हुआ है.

Reporter- Jugal Gandhi