निर्माण कार्य में अनियमितता बरतने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी: पशुपालन मंत्री

डिग्गी के शेष निर्माण कार्य को दिसंबर तक पूर्ण कर लिया जाएगा. 

निर्माण कार्य में अनियमितता बरतने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी: पशुपालन मंत्री
लालचंद कटारिया.

Jaipur: पशुपालन मंत्री लालचंद कटारिया (Lalchand Kataria) ने विधानसभा में कहा कि पशु अनुसंधान केंद्र डग में वर्षा जल को एकत्रित करने के लिए डिग्गी निर्माण में अनियमितता बरतने वाले अधिकारी, कर्मचारी और ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. इसकी जांच के लिए एक समिति 7  दिन में पशु अनुसंधान केंद्र डग जाएगी. डिग्गी के शेष निर्माण कार्य को दिसंबर तक पूर्ण कर लिया जाएगा. 

कटारिया प्रश्नकाल में विधायकों की और से पूछे गए पूरक प्रश्नों का जवाब दे रहे थे. उन्होंने बताया कि इस 23 मार्च 2017 को 1 करोड़ लीटर क्षमता की डिग्गी बनाने के लिए 51 लाख 70 हजार का वर्क ऑर्डर हुआ था, जिसे उसी साल 22 नवबंर तक कार्य पूर्ण करना था लेकिन डिग्गी निर्माण के दौरान पक्की चट्टान आने और किन्हीं अन्य कारणों से कार्य पूरा नहीं हो पाया. 

पशु अनुसंधान केन्द्र डग में महिला छात्रावास (womens hostel) सुविधा और  40 छात्राओं की क्षमता के छात्रावास के निर्माण के सम्बन्ध में कुलपति से प्रपोजल भेजने को कहा है और प्रपोजल प्राप्त होते ही उसे नियमानुसार वित्त विभाग भेज दिया जाएगा.

यह भी पढ़ेंः Khachariyawas ने की पेट्रोल-डीज़ल को GST दायरे में लाने की मांग, कहा-देश की जनता दुखी है

इससे पहले विधायक कालूराम (MLA Kaluram) के मूल प्रश्न के लिखित जवाब में कटारिया ने बताया कि पशुधन अनुसंधान केन्द्र, डग में डिग्गी का निर्माण कार्य राजस्थान पशु चिकित्सा और पशु विज्ञान महाविद्यालय, बीकानेर के स्तर से वर्ष 2017-18 में प्रारंभ किया गया था, जिसके निर्माण कार्य पर अब तक 30 लाख 2 हजार का व्यय किया जा चुका है. 

डिग्गी निर्माण कार्य के बीच पत्थर आने के कारण खुदाई कार्य में बाधा आ रही है. कार्य पूर्ण करने में लगभग 90 लाख रुपये का व्यय होना संभावित है. निर्माण कार्य को वित्तीय संसाधनों की उपलब्धता अनुसार पूर्ण करवाया जा सकेगा.