अपने जन्मदिन और भांजे की शादी के लिए 3 दिन बाद आना था घर, कश्मीर में जवान हुआ शहीद
X

अपने जन्मदिन और भांजे की शादी के लिए 3 दिन बाद आना था घर, कश्मीर में जवान हुआ शहीद

सीकर के धोद इलाके के दुगोली गांव का लाडला भगवान राम नेहरा आतंकी ऑपरेशन में शहीद हो गया. 

अपने जन्मदिन और भांजे की शादी के लिए 3 दिन बाद आना था घर, कश्मीर में जवान हुआ शहीद

Sikar: राजस्थान के सीकर के धोद इलाके के दुगोली गांव का लाडला भगवान राम नेहरा आतंकी ऑपरेशन में शहीद हो गया. खबर के बाद गांव में शोक की लहर है. भगवान राम नेहरा (Bhagwan Ram Nehra) शनिवार 4 दिसम्बर को जम्मू कश्मीर के बारामुला में लच्छीपुरा पहाड़ी पर आतंकियों की तलाशी अभियान में था, जहां पहाड़ी से गिरने पर जवान की मौत हो गई. पोस्टमार्टम के बाद जवान की पार्थिव देह पैतृक गांव के लिए रवाना कर दी गई है, जो आज शाम तक पहुंचने की संभावना है.
  
जवान भगवाना राम दो बहनों के बीच अपने पिता का इकलौटा बेटा था. वहीं पांच साल के इकलौते बेटे का पिता भी था. जवान की शहादत की सूचना पर बूढ़े माता-पिता और पत्नी का रो-रो कर बुरा हाल है. परिवार सहित पूरा गांव गम में डूबा नजर आ रहा है. सिपाही भगवान राम सात दिसंबर को ही छुट्टी पर गांव आने वाला था. जवान को 10 दिसंबर को भांजे और 11-12 दिसंबर को ससुराल में शादी में शरीक होना था. इससे पहले ही वह देश के लिए शहीद हो गया. 37 वर्षीय भगवान राम 2001 में 17 वर्ष की उम्र में पांचवी जाट बटालियन में भर्ती हुआ था. 10 दिसंबर को ही जवान का 38वां जन्मदिन भी था.

यह भी पढे़ं- Amit Shah ने Jaisalmer में ली परेड की सलामी, कहा- BSF को दी जाएगी दुनिया की बेस्ट तकनीक

श्रीनगर एयर पोर्ट पहुंचा शव 
जानकारी के अनुसार बारामुला में पोस्टमार्टम के बाद शहीद की पार्थिव देह श्रीनगर एयरपोर्ट तक लाई जा चुकी है, जहां से हवाई जहाज से शव दिल्ली एयरपोर्ट लाया जाएगा. दिल्ली से देह सरकारी वाहन में सड़क मार्ग से गांव पहुंचेगी. इसके बाद सैनिक और राजकीय सम्मान से शहीद का अंतिम संस्कार किया जाएगा.

Trending news