RSS क्षेत्रीय प्रचारक के खिलाफ प्रस्ताव पारित होने पर फूटा BJP का गुस्सा, Poonia बोले- दुर्भाग्यपूर्ण है

पूनिया ने कहा कि जनहित के मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिये राज्य की कांग्रेस सरकार आए दिन साजिश रचती है. 

RSS क्षेत्रीय प्रचारक के खिलाफ प्रस्ताव पारित होने पर फूटा BJP का गुस्सा, Poonia बोले- दुर्भाग्यपूर्ण है
बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया.

Jaipur: आरएसएस के क्षेत्रीय प्रचारक निंबाराम (Nimbaram) के खिलाफ कांग्रेस प्रदेश कार्यालय में प्रस्ताव पारित होने के बाद बीजेपी (BJP) ने भी अपने शब्द बाणों का रुख कांग्रेस की तरफ कर दिया है. 

यह भी पढ़ें- Rajasthan में 5 आईएएस के तबादले, CS से सीनियर एक और IAS की सचिवालय में एंट्री

 

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया (Satish Poonia) ने कहा कि राष्ट्रवादी संगठन के खिलाफ पीसीसी (PCC) में इस तरह की घटना निंदनीय है. पूनिया ने कहा कि जो काम न्यायपालिका और एसीबी का है, उस पर दबाव बनाने का काम अब पीसीसी की बैठकों में किया जा रहा है, पूनिया ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण, असंवैधानिक और अलोकतांत्रिक बताया.

यह भी पढ़ें- Maken की Jaipur यात्रा के दो बड़े मैसेज ! मिशन 2023 के लिए मंत्रियों को देनी होगी कुर्बानी, खुद को बताया 'दिल्ली'

 

पूनिया ने कहा कि, यह काम कानून का है, न्यायपालिका और प्रशासन की अपनी व्यवस्था है, लेकिन जब किसी राजनीतिक दल के कार्यालय में यह तय होने लगे तो फिर यह संस्थाएं क्या करेंगी? उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि जो काले बादल कांग्रेस पार्टी और राज्य सरकार (State Government) पर मंडरा रहे हैं, उससे ध्यान भटकाने के लिए इस प्रकार के प्रपंच मुख्यमंत्री गहलोत और कांग्रेस के अन्य नेता कर रहे हैं.

डोटासरा पर RAS परीक्षा में रिश्तेदारों को अनैतिक फायदा पहुंचाने का आरोप
पूनिया ने पीसीसी चीफ और शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा पर आरएएस परीक्षा में रिश्तेदारों को अनैतिक फायदा पहुंचाने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि होना तो यह चाहिए था कि इस घटनाक्रम के बाद डोटासरा आगे होकर अपना इस्तीफा देते और पूरे मामले की निष्पक्षता से जांच करवाते, लेकिन इन सबसे ध्यान भटकाने के लिए वो नित नए षड्यंत्र कर रहे हैं. पूनिया ने कहा कि इसका परिणाम कांग्रेस को आज नहीं तो कल भुगतना पड़ेगा.

कांग्रेस सरकार की अंतर्कलह ने जनता के मनोबल को गिराया
उन्होंने कहा कि, कांग्रेस को खुद आंकलन करना चाहिये कि देश के नक्शे से क्यों सिमटती जा रही है और उनका डबल जीरो में फिगर क्यों आता है? ढाई साल में कांग्रेस सरकार की अंतर्कलह ने राजस्थान की जनता के मनोबल को नैतिक रूप से कमजोर किया, विकास के कार्य अवरूद्ध हुये.

पूनिया ने कहा कि जनहित के मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिये राज्य की कांग्रेस सरकार आए दिन साजिश रचती है. उन्होंने कहा कि चाहे राजभवन का घेराव हो या राष्ट्रवादी संगठन के खिलाफ षडयंत्र की बात हो, यह सब कांग्रेस सरकार द्वारा सुनियोजित षडयंत्र किया जा रहा है. पूनिया ने कहा कि निकाय और पंचायतीराज चुनाव में भी सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर कांग्रेस ने बीजेपी के जनप्रतिनिधियों को परेशान किया.