मुख्यमंत्री के आर्थिक सलाहकार अरविंद मायाराम ने किया ट्वीट, व्यंग्यात्मक ट्वीट बना चर्चा का विषय

राजस्थान की राजनीति में नेताओं के बयान इन दिनों सुर्खियां बटोर रहे हैं. 

मुख्यमंत्री के आर्थिक सलाहकार अरविंद मायाराम ने किया ट्वीट, व्यंग्यात्मक ट्वीट बना चर्चा का विषय
वर्तमान राजनीति में चल रही उठापटक के बीच ट्वीट चर्चाओं में.

Jaipur : राजस्थान की राजनीति में नेताओं के बयान इन दिनों सुर्खियां बटोर रहे हैं. सरकार पर कभी विपक्ष के हमले तो कभी निर्दलीय विधायक सियासत को गरमा रहे हैं, लेकिन अब ब्यूरोक्रेट भी इसमें कूद गए हैं. मुख्यमंत्री के आर्थिक सलाहकार (CM Economic Advisor) और पूर्व केंद्रीय वित्त सचिव अरविंद मायाराम (Arvind Mayaram) ने एक ट्वीट किया है जो राजनेताओं और ब्यूरोक्रेट्स मैं चर्चा का विषय बना हुआ है.

यह भी पढ़ें- डेढ़ साल से बंद है खाद्य सुरक्षा का पोर्टल, BJP नेता Ramlal Sharma ने बोला तीखा हमला

मायाराम ने विमान के पायलट और इनसे जुड़ी भर्ती को लेकर एक कार्टून ट्वीट किया है. जिसमें उन्होंने कार्टून के साथ लिखा है शैतानी बुद्धि. इसके साथ ही कार्टून में हायरिंग पायलटस लिखा हुआ है. इसके साथ ही कार्टून में बताया गया है पायलट के लिए तीन इंटरव्यू लेने वाले बैठे हुए हैं. वहीं, एक व्यक्ति पायलट के लिए इंटरव्यू देने सामने बैठा है. इंटरव्यू देने वाले के लिए लिखा है मेरे पास उड़ान का लाइसेंस नहीं है ना ही मेरे पास कोई अनुभव है. मुझे रद्द उड़ानों के लिए भर्ती करें. मायाराम के इस ट्वीट को राजस्थान की राजनीति से जोड़कर देखा जा रहा है. वहीं, इसे सचिन पायलट (Sachin Pilot) पर कटाक्ष माना जा रहा है. मायाराम का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर भी चर्चा का विषय बना हुआ है. 

मायाराम के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर कई लोगों ने इस पोस्ट को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आगे सचिन पायलट की राजनीति से जोड़ कर देखा और कई तरह के कमेंट्स किये हैं. अरविंद मायाराम ने भी यूजर्स के ट्वीट का जवाब दिया है. एक यूजर ने इससे चमचागिरी वाली पोस्ट बताया तो अरविंद मायाराम ने जवाब दिया और लिखा है कि इस प्रकार की गतिविधियां तो मैंने आप पर छोड़ रखी है. इसके साथ ही एक अन्य यूजर ने लिखा की यह जानकर दुखद आश्चर्य हुआ कि अच्छी छवि वाला एक सेवानिवृत्त नौकरशाह कैसे व्यंग्य भरे कमेंटेटर में बदल जाता है. जिस पर भी अरविंद मायाराम ने जवाब दिया और लिखा कि अगर आप अपने जीवन में हास्य व्यंग्य को तिलांजलि दे दे तो उसका दोष किसी और के सर पर नहीं मण्डा जा सकता.

यह भी पढ़ें- Rajasthan BJP के युवा मोर्चा में अब तक जिलाध्यक्षों की घोषणा नहीं, उम्र बन रही बाधा!