अमरिंदर सिंह को लेकर CM Gehlot का Tweet, पूनिया ने बोला हमला
X

अमरिंदर सिंह को लेकर CM Gehlot का Tweet, पूनिया ने बोला हमला

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) के पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को लेकर किए ट्वीट पर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने जमकर हमला बोला. 

अमरिंदर सिंह को लेकर CM Gehlot का Tweet, पूनिया ने बोला हमला

Jaipur : मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) के पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को लेकर किए ट्वीट पर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने जमकर हमला बोला. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पूनिया (Satish Poonia) ने कहा कि कोई डरा हुआ व्यक्ति ही इस तरह सलाह देता है. वहीं, पूनिया ने भाजपा की चिंतन बैठक को लेकर कहा कि पूरा फोकस मिशन 2023 रहेगा. राज्य मंत्रिमंडल के  पुनर्गठन कौन बनेगा करोड़पति के सवाल जैसा बताया. वहीं, कांग्रेस अलाकमान सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को सबसे बड़ा फासिस्टवादी बताया. 

जयपुर जिला प्रमुख रमादेवी के चौपड़ा के पदभार ग्रहण समारोह में पहुंचे भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने मीडिया से बातचीत में कांग्रेस पर जोरदार हमला बोला. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के ट्वीट को लेकर पूनिया ने कहा कि अशोक गहलोत अलाकमान का कहना मानते हैं या फिर किसका कहना मानते हैं यह मुझे पता नहीं, लेकिन कोई डरा हुआ व्यक्ति ही ऐसी सलाह दे सकता है. जिस व्यक्ति के नीचे की जमीन खिसकती हो और कुर्सी के पाए हिलते हों. जुम्मा जुम्मा ढाई प्रदेशों में कांग्रेस सरकार है, अब अमरिंदर सिंह के बाद लगने लगा है कि कांग्रेस पार्टी से उनके बड़े नेताओं का भी मोह भंग हो रहा है. जी 23 के बारे में यह पहले ही सुना था अब ऐसा लग रहा है कि कांग्रेस पार्टी विचार व्यवहार के नाते अंतिम सांसे गिन रही है. पूनिया ने कहा कि गहलोतजी को अपनी कुर्सी की फिक्र ज्यादा है, लेकिन  अमरिंदरजी को सलाह क्यों दी है, वो ही बता सकते हैं . 

यह भी पढे़- Rajasthan Weather Update:30 सितम्बर तक राज्यभर में झमाझम बारिश! जारी हुई चेतावनी

पूनिया ने सीएम के ट्वीट में फासिस्टवादी ताकतों के बारे में लिखने पर कहा कि यह बात उन्होंने शायद सोनियाजी के लिए कही होगी. इस देश में सोनियाजी ने सास ने आपातकाल लागू करके फासिस्ट राज लागू किया था. कांग्रेस की नीति फासिस्टवादी, वंशवादी परिवारवादी रही है उस परिवार में न लोकतंत्र है न पार्टी में. शायद ऐसा नहीं होता तो सत्ता से बाहर नहीं होती. 

राज्य में मंत्रिमंडल विस्तार के सवाल पर पूनिया ने कहा कि यह सवाल अमिताभ बच्चन के कौन बनेगा करोड़पति जैसा हो गया है. न सवाल का आधार है न सवाल का जवाब मिल पा रहा है, न लोगों को इनाम मिल पाएगा. ऐसा लगता है कि राजस्थान में बाकी समस्याओं से बड़ा काम मंत्रिमंडल का पुनर्गठन ही है. पर लगता नहीं है कि पुनर्गठन होगा, कई कोट सिलेसलाए रह गए, कईयों के मुंगेरीलाल के सपने रह गए. न राधा नाचेगी न नौ मन तेल होगा.

Trending news