मीना कुमारी के विवादित बयान की पूरे देश में निंदा, जानिए Rajasthan की बालिकाओं की प्रतिकिया

उत्तर प्रदेश की महिला आयोग सदस्य मीना कुमारी (Meena Kumari) द्वारा दिया गया एक विवादित बयान इस समय पूरे देश में निंदा का विषय बना हुआ है. 

मीना कुमारी के विवादित बयान की पूरे देश में निंदा, जानिए Rajasthan की बालिकाओं की प्रतिकिया
फाइल फोटो

Jaipur : उत्तर प्रदेश की महिला आयोग सदस्य मीना कुमारी (Meena Kumari) द्वारा दिया गया एक विवादित बयान इस समय पूरे देश में निंदा का विषय बना हुआ है. गौरतलब है कि यूपी महिला आयोग सदस्य मीना कुमारी ने विवादित बयान (Meena Kumari Controversial statement ) देते हुए कहा था कि लड़कियों को मोबाइल (Mobile) देना बंद कर देना चाहिए, क्यूंकि मोबाइल की वजह से वो घंटों फोन पर बात करती हैं और लड़कों के साथ भाग जाती हैं. साथ ही अगर बेटियां बिगड़ती है तो इसकी पूरी जिम्मेदारी मां की होती है.

यह भी पढ़ें : Pilot से मुलताक के बाद विधायकों के आक्रामक तेवर, मंत्रिमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियां करने की मांग

ऐसे में अब राजस्थान में इस बयान की ना सिर्फ लड़कियों ने कड़ी निंदा की है साथ ही अभिभावकों ने भी इस बयान पर पलटवार किया है. अभिभावकों का कहना है कि "आज 21वीं सदी में जब लड़कियां लड़कों की बराबरी कर रही है उस सदी में अगर एक महिला आयोग की सदस्य ऐसा दकियानुसी बयान देती हैं तो समझ लिजिए की वो महिलाओं के उत्थान के लिए क्या करेगी. लड़कियों पर दिए गए इस बयान ने महिला आयोग की सदस्य की मानसिकता को दर्शाया है. साथ ही ऐसी सदस्य पर यूपी सरकार को कड़े कदम उठाने चाहिए." 

वहीं, इस बयान के बाद राजस्थान की बालिकाओं में भी खासा आक्रोश है. बालिकाओं का कहना है कि "आज जिस सदी में हम जी रहे हैं वहां इस प्रकार की बात सोचना ही काफी गलत है. टेक्नोलॉजी के इस युग में एक महिला आयोग सदस्य का इस प्रकार का बयान काफी निंदनीय है. इस प्रकार के बयान से अगर किसी के माता-पिता बच्चियों को मोबाइल देना बंद कर देंगे तो उनका भविष्य साकार करने का सपना पूरी तरह से टूट जाएगा."

यह भी पढ़ें : Rajasthan में तेज हुई सियासी हलचल! Pilot से मिलने पहुंचे 8 करीबी विधायक