स्कूल प्रशासन की घोर लापरवाही के चलते हुआ कोरोना विस्फोट, एक साथ मिले इतने अधिक पॉजिटिव केस
X

स्कूल प्रशासन की घोर लापरवाही के चलते हुआ कोरोना विस्फोट, एक साथ मिले इतने अधिक पॉजिटिव केस

स्कूलों (Schools) में अब बच्चों के पॉजिटिव (Corona Positive) आने का सिलसिला भी बढ़ता जा रहा है. 

स्कूल प्रशासन की घोर लापरवाही के चलते हुआ कोरोना विस्फोट, एक साथ मिले इतने अधिक पॉजिटिव केस

Jaipur: 15 नवम्बर से शत प्रतिशत क्षमता के साथ शिक्षण संस्थान (Educational Institutions) खुलने के साथ ही अब कोरोना (Covid) ने अपने पैर पसारना शुरू कर दिया है. स्कूलों (Schools) में अब बच्चों के पॉजिटिव (Corona Positive) आने का सिलसिला भी बढ़ता जा रहा है. 

पिछले दिनों दो स्कूलों में कोरोना पॉजिटीव आने के बाद अब महापुरा स्थित जयश्री पेड़ीवाल स्कूल (Jayshree Pediwal School) में दो बच्चों को कोरोना पॉजिटिव आने के बाद उनके टच में आए हुए 11 और बच्चे कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, जिसके बाद शिक्षा विभाग के साथ ही चिकित्सा विभाग (medical Department) में हड़कंप मच गया है. साथ ही अभिभावकों की चिंता बढ़ने लगी है. जयश्री पेड़ीवाल इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ने वाले दो छात्रों के पॉजिटीव आने के बाद स्कूल प्रबंधन ने कक्षा 6 से 8वीं तक की स्कूल को एक सप्ताह तक बंद करने का फैसला लिया था. 

यह भी पढ़ें- जयपुर के एक स्कूल में कोरोना ब्लास्ट, 11 छात्र पाए गए कोरोना पॉजिटिव, यहां पढ़ें पूरा अपडेट

स्कूल में डे बॉर्डिंग (Day boarding) होने के चलते स्कूल के बच्चों की लगातार जांच की जा रही थी. इस दौरान कक्षा 11वीं का एक छात्र पॉजिटिव मिला तो मूल रूप से मुम्बई (Mumbai) का रहने वाला है, और अभी कुछ समय पहले ही मुम्बई से छात्र लौटा था. बच्चे के कोरोना संक्रमित आने के बाद एक अन्य बीकानेर (Bikaner News) का रहने वाला बच्चा भी कोरोना संक्रमित मिला जिसके बाद उनके संपर्क में आए हुए 11 बच्चों की जांच की गई तो वह भी कोरोना संक्रमित पाए गए.

एक साथ इतनी बड़ी संख्या में बच्चों के कोरोना आने के बाद अब स्कूल प्रशासन के ऊपर लापरवाही के गंभीर आरोप लगने लगे हैं. स्कूल प्रशासन द्वारा घोर लापरवाही बरतते हुए जब बच्चे स्कूल डे बोर्डिंग में पहुंचे थे तो उनकी बिना जांच करें और बिना उनको क्वारंटाइन रखे ही सीधा क्लासों में प्रवेश दिया गया. साथ ही सामूहिक रूप से भोजन व्यवस्था भी की गई. ऐसे में अब शिक्षा विभाग (Education Department) की ओर से स्कूल प्रबंधन (School management) के ऊपर भी अनुशासनात्मक कार्रवाई को अंजाम दिया जा सकता है.

यह भी पढ़ें- जोधपुर के बरकतुल्लाह खान स्टेडियम में अब मैच होने की संभावना, BCCI की टीम करेगी दौरा

कक्षा 6वीं से 12वीं तक की स्कूल बंद करने के साथ ही अब स्कूल प्रबंधन द्वारा ऑनलाइन क्लास (Online class) शुरू कर दी है, गौरतलब है कि 15 नवम्बर के बाद से अब तक 20 साल की उम्र तक के करीब एक दर्जन बच्चे पॉजिटीव आ चुके हैं तो वहीं, पिछले दिनों एक ढाई साल के बच्चों की कोरोना के मौत भी हो चुकी है. बच्चों में बढ़ता कोरोना का संक्रमण अब अभिभावकों (Parents) के लिए चिंता का विषय भी बनता जा रहा है.

जयपुर सहित राजस्थान में कोरोना की संख्या लगातार बढ़ रही है. पिछले 2 सप्ताह में 15 से ज्यादा स्कूली बच्चे कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं. स्कूली बच्चों को लेकर शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला (BD Kalla) ने कहा कि कल शिक्षा संकुल में एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई गई है, जिसमें अधिकारियों से चर्चा की जाएगी. साथ में स्वास्थ्य और गृह विभाग के अधिकारियों से भी चर्चा की जाएगी. बैठक में ऑनलाइन और ऑफलाइन क्लासेज संचालन (Offline Classes Conduction) को लेकर भी चर्चा की जाएगी. हालांकि गृह विभाग की गाइडलाइन (Guidelines) के बाद ही स्कूलों को खोला गया है, लेकिन अब स्कूलों में बच्चों में संक्रमण फैल रहा है तो चिंता जाहिर है लेकिन इस पर जल्द ही फैसला लिया जाएगा.

Trending news