Covid-19: Rajasthan में अब नहीं होगी Remdesivir Injection की कमी, जानिए कैसे?

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा (Raghu Sharma) ने बताया कि ऑक्सीजन के साथ रेमडेसिविर (Remdesivir) की बढ़ती मांग और उसकी आपूर्ति का भी बेहतर तरीके से प्रबंधन किया गया है. 

Covid-19: Rajasthan में अब नहीं होगी Remdesivir Injection की कमी, जानिए कैसे?
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Jaipur: कोरोना संक्रमितों (Corona infected) के इलाज के लिए राजस्थान (Rajasthan) में निरंतर स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत किया जा रहा है. 

यह भी पढ़ें- Rajasthan Corona Update: राज्य में फिर बढ़े संक्रमित, 24 घंटे में आए नए 18,231 मरीज

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा (Raghu Sharma) ने बताया कि ऑक्सीजन के साथ रेमडेसिविर (Remdesivir) की बढ़ती मांग और उसकी आपूर्ति का भी बेहतर तरीके से प्रबंधन किया गया है. उन्होंने बताया कि आरएमसीएल ने एक दिन में प्रदेश के अलग-अलग जिलों में 28 हजार से अधिक रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) की आपूर्ति की है.

यह भी पढ़ें- Corona मरीजों के लिए अस्पताल में हो रहा 'रामायण का पाठ', PPE किट पहनकर आता है पंडित

7 मई तक आरएमएससीएल की ओर से प्रदेश के छह संभाग (मेडिकली) के जिलों में 28 हजार 170 रेमडेसिविर इंजेक्शन का वितरण किया गया. उन्होंने बताया कि सबसे अधिक 10 हजार 740 रेमडेसिविर इंजेक्शन जयपुर संभाग के जिलों में वितरित किए गए. वहीं, जोधपुर संभाग में 50000, उदयपुर संभाग में 3780, कोटा संभाग में 3470, अजमेर संभाग में 2810 व बीकानेर संभाग में 2370 इंजेक्शन की आपूर्ति की गई. 

क्या कहना है चिकित्सा मंत्री का
चिकित्सा मंत्री ने कहा कि केन्द्र सरकार ने राजस्थान को 9 मई तक के लिए 1,41,600 रेमडेसिविर इंजेक्शन का आवंटन निर्धारित किया है, जबकि प्रदेश में संक्रमितों की तेजी से बढ़ रही है और हमें अधिक इंजेक्शनों की आवश्यकता है. इसी के चलते आरएमएससीएल ने स्वयं के स्तर पर रेमडेसिविर इंजेक्शन की भी खरीद की है. इसके बाद प्रदेश में रेमडेसिविर इंजेक्शन का कोटा करीब 2.48 लाख हो गया है. उन्होंने कहा कि रेमडेविर इंजेक्शन का आवंटन निजी और सरकारी अस्पतालों को जिला स्तर पर गठित कमेटी की सिफारिश पर सीधा आरएमएससीएल द्वारा किया जा रहा है ताकि इन इंजेक्शन की कालाबाजारी पर पूर्णतया रोक लग सके.

क्या कहना है आरएमएससीएल के प्रबंध निदेशक का
आरएमएससीएल के प्रबंध निदेशक आलोक रंजन ने कहा कि रेमडेसिविर के अलावा गंभीर रूप से बीमार मरीजों के लिए 340 टोसिलीजुमेब इंजेक्शन का भी प्रदेश के सभी जिलों में मांग के अनुसार वितरण किया गया है. उन्होंने कहा कि वितरण के बाद राज्य में अब जीवन रक्षक दवाओं की कमी नहीं रहेगी.