Dausa: मौत के बाद शवों की दुर्दशा! एंबुलेंस के लिए भटक रहे शव

Dausa News: परिजनों ने कहा, 'अपनों की मौत के बाद तो वैसे ही टूट रहे हैं और ऊपर से सिस्टम के कुप्रबंधन का शिकार हो रहे हैं.'

Dausa: मौत के बाद शवों की दुर्दशा! एंबुलेंस के लिए भटक रहे शव
मौत के बाद शवों को नहीं मिल रही एबंलेंस. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Dausa: दौसा जिले में कोविड कुप्रबंधन की वह तस्वीर दिखाई दे रही है जहां कोरोना मरीजों की मौत के बाद भी समय पर उनका इलाज नहीं हो पा रहा है. एक तरफ मृतकों के परिजन अपनों की मौत को लेकर दुखी हैं तो वहीं दूसरी ओर श्मशान घाट में अंतिम संस्कार के लिए घंटों इंतजार करना पड़ रहा है.

दरअसल, दौसा से दो तस्वीर सामने आई है. एक जगह कोविड से मौत के बाद शव को वार्ड से बाहर निकालकर अस्पताल परिसर में खुले में रख दिया गया. इसके बाद परिजन घंटों एंबुलेंस की राह निहारते रहे लेकिन उनकी कोई मदद नहीं की गई. वहीं, बांदीकुई में परिजन पीपीई किट पहनकर शव को श्मशान घाट ले जाने के लिए एंबुलेंस का घंटों इंतजार करते रहे.

ये भी पढ़ें-Sikar: 15 दिनों में 20 से अधिक लोगों की मौत, गांव में फैली दहशत

 

ऐसे में व्यवस्था की लाचारी से परेशान परिजनों ने कहा, 'अपनों की मौत के बाद तो वैसे ही टूट रहे हैं और ऊपर से सिस्टम के कुप्रबंधन का शिकार हो रहे हैं.' कोविड मरीजों की मौत के बाद एंबुलेंस की इतनी मारामारी हो रही है कि समय पर गाड़ी नहीं मिल रही है.

मृतक के परिजनों की मानें तो निजी एंबुलेंस चालक मनमानी दाम मांगते हैं. ऐसे में हम कहां जाएं. एक तरफ अपनों की मौत से दुखों का पहाड़ टूट रहा है तो दूसरी तरफ समय पर शव ले जाने के लिए एंबुलेंस नहीं मिलने से भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

ये भी पढ़ें-Alwar के मित्तल अस्पताल ने रोकी Corona मरीजों की भर्ती, परिजन हो रहे परेशान

 

(इनपुट-लक्ष्मी अवतार शर्मा)