विभाग जन प्रतिनिधियों के पत्रों पर प्राथमिकता के साथ करें त्वरित कार्रवाई: मुख्य सचिव

मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने जनप्रतिनिधियों के प्रोटोकॉल को लेकर अधिकारियों से सुझाव भी मांगे हैं ताकि इस व्यवस्था को और सुदृढ़ बनाए जा सके. 

विभाग जन प्रतिनिधियों के पत्रों पर प्राथमिकता के साथ करें त्वरित कार्रवाई: मुख्य सचिव
सीएस ने कहा कि जन प्रतिनिधियों के पत्रों पर प्राथमिकता के साथ कार्रवाई की जाए.

Jaipur: मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जन प्रतिनिधियों के पत्रों पर प्राथमिकता के साथ कार्रवाई की जाए तथा उनका तत्काल जवाब दिया जाए. राजकीय भवनों के शिलान्यास एवं उद्घाटन कार्यक्रमों तथा अन्य राजकीय कार्यक्रमों में जनप्रतिनिधियों को आवश्यक रूप से आमंत्रित करने के संबंध में जारी प्रोटोकॉल निर्देशिका की पूर्णतया पालन सुनिश्चित किया जाना चाहिए. जनप्रतिनिधियों के प्रोटोकॉल को लेकर आयोजित बैठक में उन्होंने अधिकारियों को यह निर्देश दिए.

       मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने अधिकारियों को दिए निर्देश

  • जन प्रतिनिधियों के पत्रों पर प्राथमिकता से कार्रवाई की जाए तथा उनका तत्काल जवाब दिया जाए.
  • राजकीय भवनों के शिलान्यास एवं उद्घाटन कार्यक्रमों तथा अन्य राजकीय कार्यक्रमों में जनप्रतिनिधियों को आवश्यक रूप से आमंत्रित किया जाए.
  • सांसद और विधायकों के साथ प्रोटोकॉल के तहत निर्धारित व्यवहार किया जाना सुनिश्चित किया जाए.

उन्होंने कहा कि इस संबंध में वर्ष 2020 को जारीपरिपत्र के आधार पर प्रोटोकॉल का पालन किया जाना चाहिए. इसमें राजकीय भवनों के शिलान्यास अथवा उद्घाटन कार्यक्रमों अन्य राजकीय समारोह जो राजकीय धनराशि से आयोजित हों चाहे वे किसी राजकीय उपक्रम, बोर्ड, निगम या स्वायत्तशासी संस्था के हो उनमें जनप्रतिनिधियों यथा सांसद, विधायक, जिला प्रमुख, प्रधान, नगर निकायों के मेयर, सभापति, अध्यक्ष, ग्राम पंचायत के सरपंच एवं जनप्रतिनिधियों को बुलाया जाए. फील्ड लेवल पर भी विभाग के अधिकारियों को इन दिशा-निर्देशों की जानकारी होनी चाहिए.

इसके साथ ही मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने जनप्रतिनिधियों के प्रोटोकॉल को लेकर अधिकारियों से सुझाव भी मांगे हैं ताकि इस व्यवस्था को और सुदृढ़ बनाए जा सके. इस बैठक में प्रशासनिक सुधार विभाग के प्रमुख सचिव अश्विनी भगत सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहे.