शेखावाटी में लहलहा रही अंजीर की फसल, कम समय में किसानों को हो रहा लाखों का फायदा

शेखावाटी इलाके के किसान अंजीर की खेती कर रहे हैं. इलाके में जबरदस्त तरीकें से किसान अंजीर की खेती (Fig crop) कर अमीर बन रहे हैं. 

शेखावाटी में लहलहा रही अंजीर की फसल, कम समय में किसानों को हो रहा लाखों का फायदा
शेखावाटी अंचल में अंजीर की खेती के प्रति किसानों में रुझान बढ़ा है.

Sikar : जिस इलाके में अंजीर का नाम नहीं जानते थे, अजीर की पहतान नहीं जानते था. आज उस शेखावाटी इलाके के किसान अंजीर की खेती कर रहे हैं. इलाके में जबरदस्त तरीकें से किसान अंजीर की खेती (Fig crop) कर अमीर बन रहे हैं. 

रेतीले धोरों पर लहलहाती अंजीर की फसल हर किसी को अपनी तरफ खींच लेती है. शेखावाटी (Rajasthan News) में पहले कोई अंजीर का नाम तक नहीं जानता था, लेकिन अब इस इलाके के खेतों में अंजीर की फसल लहलहा रही है. सीकर जिले (Sikar News) में प्रगतिशील किसानों का अंजीर की खेती के प्रति रुझान बढ़ने लगा है और अच्छी आमदनी की आस में किसान अंजीर की खेती कर रहे हैं. 

यह भी पढ़ें : 1 अगस्त से महंगा होगा ATM से पैसा निकालना! इन बड़े बदलावों से बढ़ेगा आमजन का जेब खर्च

इस साल सीकर जिले (Fig crop in Sikar) में करीब आधा दर्जन जगह किसानों ने अंजीर के प्लांट लगाए हैं. इसके लिए आंध्र प्रदेश की कंपनियों से करार किया है. जिन्होंने यहां पौधरोपण किया है. सीकर गोकुलुपरा और आसपास के इलाकों में इन खेतों में अंजीर की फसल देखी जा सकती है. किसानों का कहना है कि यह पौधा एक साल बाद ही फल देने लगता है और 2 साल में पूरी रकम वसूल हो जाती है. इसके बाद अगर कोई किसान 1000 पौधे भी लगाता है तो हर साल 5 से 6 लाख तक की बचत हो सकती है. 

किसानों ने कंपनी से करार कर अपने खेत में अंजीर के पौधे (Fig crop in Rajasthan) लगाए. कम्पनी हरे अंजीर भी 40 रुपये प्रति किलो के हिसाब से खरीद लेती है. इसके अलावा अगर कोई किसान अपने खेत में प्रोसेसिंग यूनिट लगा लेता है तो अंजीर 800 रुपये से 5000 रुपये तक के भाव में बिकती है. किसानों का कहना है कि एक पौधा उन्हें 400 रुपये में मिलता है और पहले साल में ही हर पौधे में 8 किलो तक फल आ जाते हैं. 

अगर कंपनी को 40 रुपए किलो में भी बेचते हैं तो एक पौधा 300 से 400 रुपये की तक की आय पहले साल में देता है. पौधों को लगाने के लिए ड्रिप सिस्टम और खाद का खर्चा मिलाकर 2 साल में पूरा पैसा वसूल हो जाता है. अच्छी कमाई होती है.  किसानों को समय-समय पर विशेषज्ञों के द्वारा तमाम सलाह भी दी जाती है ताकि फसल को नुकसान नहीं हो.

शेखावाटी अंचल में अंजीर की खेती के प्रति किसानों में रुझान बढ़ा है आने वाले समय में यह रुझान और बढ़ेगा और कहीं ना कहीं किसानों के लिए फलदायक साबित होगा. 

रिपोर्ट : अशोक शेखावत

यह भी पढ़ें : Rajasthan में आया Monsoon झूम के, Jaipur, Baran समेत इन जिलों में झमाझम हो रही बारिश