गहलोत सरकार बालिकाओं और महिलाओं को देने जा रही है खास सौगात, 200 करोड़ है योजना का बजट

पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के जन्मदिन के अवसर पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत प्रदेश की बालिकाओं और महिलाओं को एक अहम सौगात देने जा रहे हैं. 

गहलोत सरकार बालिकाओं और महिलाओं को देने जा रही है खास सौगात, 200 करोड़ है योजना का बजट
फाइल फोटो

Jaipur : पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के जन्मदिन के अवसर पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत प्रदेश की बालिकाओं और महिलाओं को एक अहम सौगात देने जा रहे हैं. 19 नवंबर के अवसर पर प्रदेश में मुख्यमंत्री महिलाओं के बेहतर स्वास्थ्य और व्यक्तिगत स्वच्छता को लेकर जागरूकता के मकसद से उड़ान योजना का शुभारंभ करेंगे. 200 करोड़ की इस योजना में प्रदेश में महिलाओं और बालिकाओं के बीच निशुल्क सेनेटरी नैपकिन (Free Sanitary Napkins) का वितरण किया जाएगा.

देश की प्रथम महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी (Indira Gandhi) के जन्मदिवस के अवसर पर आगामी 19 नवंबर को राज्य सरकार (Rajasthan Government) की ओर से प्रदेश की समस्त महिलाओं को बेहतर स्वास्थ्य एवं व्यक्तिगत शारीरिक स्वच्छता के प्रति जागरूक करने और विभिन्न रोगों से बचाव के लिए महत्वाकांक्षी उडान योजना (Rajasthan Udan Yojana) का शुभारंभ किया जाएगा. योजना के तहत विद्यालयों, कॉलेजों और आंगनबाड़ी केन्द्रों के जरिए चरणबद्ध रूप से सेनेटरी नैपकिन का निशुल्क वितरण किया जाएगा. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उडान योजना के लिए 200 करोड़ रूपए के बजट प्रावधान के प्रस्ताव का अनुमोदन कर दिया है.  

यह भी पढ़ें : अगले 48 घंटों तक Rajasthan में सक्रिय रहेगा Monsoon, जानें कहां झमाझम बरसेंगे बादल

छात्राओं और किशोरियों को बेहतर हेल्थ एवं हाइजीन के लिए मुफ्त सेनेटरी नैपकिन वितरण का दायरा बढ़ाकर अब यह सुविधा आवश्यकतानुसार प्रदेश की सभी महिलाओं को चरणबद्ध रूप से उपलब्ध कराई जाएगी. साथ ही, महिला स्वयं सहायता समूहों, सामाजिक तथा गैर सरकारी संस्थाओं के माध्यम से महिला स्वास्थ्य संबंधी विशेष जागरूकता अभियान चलाया जाएगा.

योजना में राजस्थान स्वास्थ्य सेवाएं कॉर्पोरेशन लिमिटेड (Rajasthan Health Services Corporation Limited) की ओर से स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से तैयार नैपकिन की मुख्यमंत्री निःशुल्क योजना के अन्तर्गत खरीद की जाएगी. स्कूल-कॉलेजों और आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से नैपकिन का मुफ्त वितरण किया जाएगा. आरएमएससीएल की ओर से सभी वितरण केंद्रों पर सेनेटरी नैपकिन का समुचित स्टॉक उपलब्ध कराया जाएगा. नैपकिन की व्यवस्था से संबंधित शिकायत हेल्पलाइन नम्बर 181 पर की जा सकेगी.

गहलोत की उडान योजना का नोडल विभाग महिला अधिकारिता विभाग होगा. इसका क्रियान्वयन चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, स्कूल शिक्षा और कॉलेज शिक्षा विभागों के साथ-साथ तकनीकी एवं उच्च शिक्षा, जनजाति क्षेत्रीय विकास और पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास विभागों की सहभागिता से किया जाएगा. प्रभावी क्रियान्वयन के लिए राज्य स्तर पर 2 तथा जिला स्तर पर एक-एक ब्रांड एम्बेसेडर बनाए जाएंगे. योजना से जुड़े स्वयंसेवी संगठनों, ब्रांड एम्बेसेडर को उत्कृष्ट कार्य करने के लिए पुरस्कृत भी किया जाएगा.

निश्चित रूप से गहलोत के इस निर्णय से प्रदेश की सभी किशोरियों एवं महिलाओं में स्वास्थ्य और व्यक्तिगत स्वच्छता के प्रति जागरूकता बढ़ेगी विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्र की बालिकाएं एवं महिलाएं, जो संकोचवश अपनी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं पर चर्चा नहीं कर पाती हैं और इस कारण कई प्रकार के रोगों से ग्रसित हो जाती हैं, वे अधिक सुगमता से निःशुल्क सेनेटरी नैपकिन की सुविधा का लाभ प्राप्त कर सकेंगी.