International Nursing Day: नर्सों का आंदोलन जारी, कहा-2 साल से नहीं मानी जा रही मांगें

Alwar News: प्रेम पटेल ने बताया कि राज्य नर्सिंग एसोसिएशन के द्वारा पिछले 2 वर्षों से लगातार 11 सूत्रीय मांगों को लेकर आंदोलन चल रहा है.

International Nursing Day: नर्सों का आंदोलन जारी, कहा-2 साल से नहीं मानी जा रही मांगें
2 साल से अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रही हैं नर्सें. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Alwar: बुधवार को राजीव गांधी सामान्य चिकित्सालय अलवर में 'अंतरराष्ट्रीय नर्सिंग दिवस' (International Nursing Day) मनाया गया. अंतर्राष्ट्रीय नर्सिंग दिवस पर सामान्य चिकित्सालय के नर्सिंग कर्मियों ने फ्लोरेंस नाइटिंगेल की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर मनाया. कोरोना महामारी के दौरान सभी नर्सिंग कर्मी अपना फर्ज निभा रहे हैं.

पूर्व जिला अध्यक्ष प्रेम पटेल ने बताया कि राज्य नर्सिंग एसोसिएशन के द्वारा पिछले 2 वर्षों से लगातार 11 सूत्रीय मांगों को लेकर आंदोलन चल रहा है. हमारी प्रांतीय नर्सिंग एसोसिएशन ने पद नाम परिवर्तन को लेकर 8 अप्रैल की बैठक में तय किया गया था कि 10 व 11 मई को सभी नर्सिंग कर्मचारी काली पट्टी बांधकर विरोध प्रदर्शन करेंगे और 12 मई को कोरोना महामारी को देखते हुए 'अंतरराष्ट्रीय नर्सिंग दिवस' पर 2 घंटे अधिक कार्य करके विरोध प्रदर्शन करेंगे.

उन्होंने कहा कि पदनाम परिवर्तन की मांग को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) को कई बार अवगत कराया गया है. राजस्थान सरकार पर इसका कोई वित्तीय भार नहीं पड़ेगा. पटेल ने कहा कि रात दिन सेवा करने वाले इस संवर्ग को दूसरे राज्यों में और केंद्र शासित प्रदेशों में नर्स ग्रेड-2 को नर्सिंग ऑफिसर, नर्स ग्रेड-1 को सीनियर नर्सिंग ऑफिसर का पद, नाम परिवर्तन की मांग को लेकर राजस्थान सरकार से गुहार लगाई है.

राजस्थान सरकार में ग्राम सेवक पद पर कार्यरत कर्मचारियों को ग्राम विकास अधिकारी की तर्ज पर पद नाम परिवर्तन की  मांग की है.

(इनपुट-जुगल किशोर गांधी)