Corona चेन तोड़ने के लिए 'अर्ली डिटेक्शन-अर्ली ट्रीटमेंट' जरूरी, डोर टू डोर सर्वे तेज
X

Corona चेन तोड़ने के लिए 'अर्ली डिटेक्शन-अर्ली ट्रीटमेंट' जरूरी, डोर टू डोर सर्वे तेज

संभागीय आयुक्त ने कहा कि पिछले दिनों में आर्थिक गतिविधियों में कम होने के कारण रोज खाने कमाने वाले कुछ जरूरतमंद लोगों के लिए समय कठिन हो सकता है. 

Corona चेन तोड़ने के लिए 'अर्ली डिटेक्शन-अर्ली ट्रीटमेंट' जरूरी, डोर टू डोर सर्वे तेज

Jaipur: संभावित सुपर स्प्रेडर्स ग्रुप, राशन और सब्जी दुकान, सर्वे संचालित कर रहे कार्मिकों का भी नियमित रूप से सैंपल लिया जाए. उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में तीसरी लहर की बात कही जा रही है. ऐसे में ऑक्सीजन, बैड, जीवन रक्षक उपकरणों, आवश्यक दवाओं की उपलब्धता के साथ सभी तैयारियां पूरी रखी जाएं. 

यह भी पढे़ं- Jaipur: मंदिरों में पूजा के दौरान बंद करवाए गए 'लाउडस्पीकर', अब मामले ने पकड़ी तूल

संभागीय आयुक्त ने कहा कि पिछले दिनों में आर्थिक गतिविधियों में कम होने के कारण रोज खाने कमाने वाले कुछ जरूरतमंद लोगों के लिए समय कठिन हो सकता है. ऐसे में इंदिरा रसाई एवं भामाशाहों के सहयोग से भोजन की व्यवस्था के प्रयास भी किए जाएं. उन्होंने कई जिलों में कोविड प्रबन्धन के दौरान किए गए प्रयासों औऱ नवाचारों के लिए कलक्टर्स की तारीफ भी की. 

यह भी पढे़ं- Bharatpur में अपराधी बेखौफ, सरेआम चिकित्सक दंपति की गोली मारकर हत्या

 

जिला कलक्टर अंतर सिंह नेहरा (Antar Singh Nehra) ने बताया कि किस प्रकार जयपुर में त्रिस्तरीय 'डोर टू डोर' व्यवस्थित एवं प्रभावी सर्वे प्रारम्भ किया गया, जिसे राज्यभर में एक मॉडल की तरह अपनाया गया. इसी तरह 'मेरा गांव-मेरी जिम्मेदारी' मॉडल कोटपूतली से निकला, जहां पूर्व सरपंच, सरपंच, वार्ड पंच, आंगनवाडी कार्यकर्ता जैसे 10-15 जनप्रतिनिधियों, कर्मचारियों एवं गणमान्य व्यक्तियों के समूह और उनके व्हाट्सअप ग्रुप बनाकर प्रषासन द्वारा निरंतर संवाद कायम किया गया. सीकर में प्रशासन एवं पुलिस के प्रयासों से एक भी कोविड पॉजिटिव व्यक्ति ने क्वारंटीन अवधि में दिषा निर्देश का उल्लंघन नहीं किया. झुंझनू में तीन दिवस तक 'अपना गांव अपनी बीट' अभियान चलाकर क्विक सर्वे और हीलिंग टच से संवाद कायम कर संक्रमण रोकने के प्रयास किए गए. 

संभागीय आयुक्त ने आगामी दिनों में विवाह समारोहों के आयोजन और उनमें भीड़-भाड़ की संभावनाओं के प्रति सचेत रहने के निर्देश दिए. साथ ही सभी जिला कलक्टर्स को गर्मी की ऋतु को देखते हुए जलप्रदाय योजना से जुडे़ पेंडिंग बिजली कनेक्षन्स का रिव्यू कर उन्हें जल्द प्रारम्भ करवाने के भी निर्देश दिए. 

वीडियो कांफ्रेंस में आईजी हवासिंह घुमरिया ने संभाग के पुलिस अधिकारियों से कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के साथ ही अपराधों की रोकथाम के लिए भी सजग रहने की आवश्यकता है. संक्रमण में कमी के कारण सख्ती में कमी नहीं आनी चाहिए और मेरा गांव मेरी जिम्मेदारी जनअभियान को एक जन आन्दोलन बनाने के प्रयास करें. इस अवसर पर अतिरिक्त संभागीय आयुक्त सेवाराम स्वामी भी उपस्थित रहे.

Trending news