Jhunjhunu : लाइनमैन की करंट लगने से हुई मौत, तीन घंटे तक ट्रांसफार्मर पर झूलता रहा शव

झुंझुनूं जिले (Jhunjhunu News) के गांव खिरोड़ की सुण्डा की ढाणी में बिजली की लाइन में आई तकनीकी खराबी को ठीक करने के दौरान आए करंट से एक लाइनमेन की मौत हो गई. 

Jhunjhunu : लाइनमैन की करंट लगने से हुई मौत, तीन घंटे तक ट्रांसफार्मर पर झूलता रहा शव
ग्रामीणों से समझाइश कर शव को नीचे उतरवाया.

Jhunjhunu : राजस्थान के झुंझुनूं जिले (Jhunjhunu News) के गांव खिरोड़ की सुण्डा की ढाणी में बिजली की लाइन में आई तकनीकी खराबी को ठीक करने के दौरान आए करंट से एक लाइनमेन की मौत हो गई. गुस्साए ग्रामीणों ने बिजली निगम पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए मृतक के परिवार को मुआवजा देने समेत अन्य मांगों को लेकर विरोध जताना शुरू कर दिया. मांगें नहीं माने जाने तक शव ट्रांसफार्मर से करीब तीन घंटे तक नीचे नहीं उतारने दिया. सूचना पर बिजली निगम (Electricity Corporation) के एक्सईएन हरिराम कालेर, ग्रामीण एईएन मनफूल सिंह मौके पर पहुंचे. 

यह भी पढ़ें : Vaccination में अग्रणी रहने वाली ग्राम पंचायतों के लिए CM Gehlot का बड़ा फैसला, मिलेगा फंड

उन्होंने ग्रामीणों से समझाइश कर शव को नीचे उतरवाया. जानकारी के अनुसार बसावा पावर हाउस से सुण्डा की ढाणी में आ रही बिजली लाइन में तकनीकी खराबी आ गई थी. इसको ठीक करने के लिए खिरोड़ निवासी लाइनमेन वीरेन्द्र सिंह पहुंचा. वह ट्रांसफार्मर पर चढ़कर बिजली की लाइन में आई तकनीकी खराबी को ठीक कर रहा था. इस दौरान वह करंट की चपेट में आ गया. इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई. उसका शव ट्रांसफार्मर (Transformer) पर ही लटका रह गया. सूचना मिलने पर काफी संख्या में ग्रामीण वहां पहुंच गए. 

उन्होंने बिजली निगम पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन करना शुरू कर दिया. प्रदर्शन की सूचना मिलने पर एक्सईएन हरिराम कालेर, एईएन ग्रामीण मनफूल सिंह व जेईएन विकास मीणा मौके पर पहुंचे. ग्रामीणों ने उनका घेराव करते हुए मृतक के परिवार को आर्थिक सहायता देने, घटना के दौरान पावर हाउस में तैनात कार्मिक पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए उसके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की. इस पर एक्सईएन हरिराम कालेर ने नियमानुसार मृतक के परिवार को आर्थिक सहायता दिलवाने का आश्वासन दिया. इस पर ग्रामीण शांत हो गए. 

इसके बाद मृतक के शव को नीचे उतारा गया. मृतक के है एक बेटा मृतक वीरेन्द्र सिंह के एक बेटा है. उसकी मौत से बेटे के सिर से पिता का साया हट गया. वीरेन्द्र की मौत का समाचार सुनते ही गांव में माहौल गमगीन हो गया. घर में हर किसी का रो रो कर बुरा हाल था.

रिपोर्ट : संदीप केडिया

यह भी पढ़ें : राजस्थान के सियासी हालातों पर पायलट 'मौन', दिल्ली से जयपुर लौटने पर भी नहीं तोड़ी चुप्पी