Jhunjhunu: महिला नर्स पर युवक का अपहरण कर मारपीट का आरोप, धरने पर उतरा वाल्मीकि समाज

झुंझुनूं के वाल्मीकि समाज (Valmiki Samaj) का चार दिन से लापता एक युवक आज सुबह एक महिला नर्स के घर पर घायल हालात में मिला. इसके बाद झुंझुनूं शहर में तनाव (Tension) का माहौल बना हुआ है. 

Jhunjhunu: महिला नर्स पर युवक का अपहरण कर मारपीट का आरोप, धरने पर उतरा वाल्मीकि समाज
सड़क पर उतरे वाल्मीकि समाज के लोग.

Jhunjhunu: झुंझुनूं के वाल्मीकि समाज (Valmiki Samaj) का चार दिन से लापता एक युवक आज सुबह एक महिला नर्स के घर पर घायल हालात में मिला. इसके बाद झुंझुनूं शहर में तनाव (Tension) का माहौल बना हुआ है. वहीं, वाल्मीकि समाज ने आरोपियों पर कार्रवाई न होने तक शहर की सफाई व्यवस्था रोक देने का ऐलान कर दिया है.

जानकारी के मुताबिक, दिलीप चांवरिया (Dileep Chawariya) 27 जुलाई की शाम को घर से जिम जाने के लिए रवाना हुआ था. जब वह नहीं लौटा तो उसके पिता विनोद चांवरिया ने कोतवाली में 29 जुलाई को गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवा दी लेकिन इसके बाद भी उसकी कोई जानकारी नहीं लगी. आज सुबह जब विनोद चांवरिया को पता चला कि वह बीडीके अस्पताल (BDK Hospital) में कार्यरत महिला नर्स प्रेम कटेवा के घर पर है. जिस पर विनोद चांवरिया घर पहुंचा तो प्रेम कटेवा और उसके साथ तीन-चार अन्य लोग उसके बेटे को बंधक बनाकर मारपीट कर रहे थे. 

यह भी पढ़ें- घर के बुझते चिराग को Doctor ने दिया जीवनदान, ब्लड एक्सचेंज से बचाई नवजात की जान

 

पिता ने पुलिस को दी जानकारी
विनोद ने इसकी जानकारी पुलिस को दी और पुलिस ने जाकर उसके बेटे को वहां से अस्पताल में भर्ती कराया. इस मारपीट की सूचना मिलने पर बड़ी संख्या में बीडीके अस्पताल में वाल्मीकि समाज के लोग पहुंच गए और प्रदर्शन करने लगे, जिसके देखते हुए मौके पर एसडीएम (SDM) शैलेश खैरवा, डीएसपी (DSP) भंवरलाल, सदर सीआई गोपालसिंह ढ़ाका और भारी पुलिस बल मौके पर बुलाया.

 भाजपा नेता कमलकांत शर्मा ने की कार्रवाई की मांग
 भाजपा नेता कमलकांत शर्मा भी मौके पर पहुंच गए. उन्होंने कहा कि कांग्रेस राज में दलितों पर हमला होना पहली घटना नहीं है. वहीं जिस महिला पर मारपीट का आरोप है, वह खुद बीडीके अस्पताल में कार्यरत है. ऐसे में यहां पर उसका इलाज और मेडिकल रिपोर्ट किसी भी सूरत में निष्पक्ष नहीं हो सकती. इसलिए जयपुर एसएमएस अस्पताल की टीम द्वारा मेडिकल करवाया जाए.

 इधर, सफाई कर्मचारियों ने मामले में कार्रवाई ना होने तक शहर में सफाई कार्य ठप करने का ऐलान कर दिया है. पुलिस ने इस मामले में चार लोगों को राउंड अप कर लिया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है.
 आपको बता दें कि करीब दो माह पहले इसी महिला नर्स ने घायल युवक के खिलाफ ही उसके चेक चोरी कर फर्जी हस्ताक्षरों से बैंक से करीब 9 लाख 80 हजार रूपये निकलवाने का मामला दर्ज करवाया था. वाल्मिकी समाज का यह युवक किसी समय इसी महिला नर्स के घर काम करता था.

Reporter- Sandeep Kedia