Rajasthan में भारी बारिश से नदियां उफान पर, कई जिलों में जलभराव के बाद बुरा हाल

भारी बारिश के चलते राजधानी जयपुर (Jaipur New) जलमग्न हो गई है. ड्रेनेज सिस्टम की पोल खुल गई है. चांदी की टकसाल पर घुटने-घुटने तक पानी भर गया है. 

Rajasthan में भारी बारिश से नदियां उफान पर, कई जिलों में जलभराव के बाद बुरा हाल
कालीसिंध, चंबल और पार्वती नदियों में तेजी से जल स्तर बढ़ रहा है.
Play

Jaipur : भारी बारिश के चलते राजधानी जयपुर (Jaipur New) जलमग्न हो गई है. ड्रेनेज सिस्टम की पोल खुल गई है. चांदी की टकसाल पर घुटने-घुटने तक पानी भर गया है. सालों से इस जगह जलभराव की समस्या रही है. अफसर केवल खानापूर्ति और कागजों में नालों की सफाई दिखाकर वाहवाही लूट रहे हैं.

इसके अलावा ढहर के बालाजी सीकर रोड पर भी मुख्य सड़क जलमग्न हो गई. भारी जल भराव के चलते गाड़ी भी पानी में तैरने लगी. 2 फीट पानी भरने से आवागमन बंद हो गया है. जयपुर में करीब 44MM बारिश दर्ज (Rain in Rajasthan) की गई है.

यह भी पढ़ें : Hanuman Beniwal ने की RPSC चेयरमैन और सदस्यों की आय की CBI जांच की मांग, जानें मामला

वहीं, सीकर के खंडेला में जोरदार बारिश के बाद बाजार में सैलाब आ गया. महज आधा घंटे की बारिश में बाजार में तेजी से पानी बहने लगा. इस बारिश से नदी नालों में पानी की अच्छी आवक हुई है. सीकर के खाटूश्यामजी में झमाझम बारिश हुई. जिससे लोगों कको गर्मी से राहत मिली. तेज बारिश से सड़कों पर पानी भर गया.

तालाब की पाल टूटी

वहीं, बारां में लगातार हो रही जोरदार बारिश (Monsoon in Rajasthan) अब लोगों के लिए आफत बनने लगी है. तेज बारिश से बादीपुरा गांव के तालाब की पाल टूट गई. जिससे पानी बह निकला और कई कच्चे मकान गिर गए. निचली बस्तियों में जलभराव की आशंका बनी हुई है. वहीं, बारां के अंता में बारिश के बाद काली सिंध नदी का स्तर बढ़ रहा है. नागदा में स्थित कुंड पानी में डूब गए है, लेकिन बावजूद इसके यहां श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला जारी है. लोग जान पर खेलकर नदी में नहा रहे हैं. प्रशासन इन लोगों को रोक नहीं रहा है. जिससे कभी भी यहां बड़ा हादसा हो सकता है.

मकान का हिस्सा टूटकर बहा

वहीं, अलवर के बानसूर में बीती रात्रि बारिश (Rajasthan Weather Update) आफत बन कर बरसी बारिश की वजह से बानसूर के गांव शाहपुर में एक मकान का हिस्सा भी टूटकर बह गया. गांव के ज्यादातर घरों में पानी भर गया. गांव में तीन मंजिला इमारत का एक हिस्सा पानी के तेज बहाव के कारण टूट कर बह गया. मकान में रहने वाले लोग  छत पर चढ़ गए, जिनको रेस्क्यू कर बाहर निकाला गया. वहीं, गरीब किसानों के घरों में पानी घुसने से घर का घरेलू सामान खाने का अनाज और बाजरे की फसल खराब हो गई. सूचना पर बानसूर प्रशासन मौके पर पहुंचा स्थिति का जायजा लिया.

नदियां उफान पर 

वहीं, कोटा जिले में सुबह से ही झमाझम बारिश (Rajasthan Weather Alert) का दौर जारी है. एमपी में भी अच्छी बारिश हो रही है, जिससे इलाके की नदियां उफान पर हैं. कालीसिंध, चंबल और पार्वती नदियों में तेजी से जल स्तर बढ़ रहा है. पानी की आवक ज्यादा होने से कई मार्ग बंद हो गये हैं. चंबल-कैथूदा झरेर पुलिया पर 10 फीट पानी बह रहा है. बारां-मथुरा, सवाईमाधोपुर रोड भी बंद हो गया है. खातोली की पार्वती पुलिया पर पानी आने से राजस्थान-एमपी का संपर्क कट गया है.

यह भी पढ़ें : Rajasthan: मंत्रिमंडल फेरबदल और विस्तार में लागू हो सकता है यह सिद्धांत, होंगे बड़े बदलाव