महापौर मुनेश गुर्जर ने दिखाई संवेदनशीलता, 88 वर्षीय बुजुर्ग महिला को घर जाकर सौंपा पट्टा
X

महापौर मुनेश गुर्जर ने दिखाई संवेदनशीलता, 88 वर्षीय बुजुर्ग महिला को घर जाकर सौंपा पट्टा

प्रशासन शहरों के संग अभियान में भले ही नगर निगम पट्टे वितरण करने में कंजूसी कर रहा हो. लेकिन दोनों नगर निगमो में मेयर से लेकर अफसर की संवेदनशीलता भी देखने को मिल रही है. बुजुर्गों को नगर निगम दफ्तर तक नहीं आना पड़े इसके लिए खुद मेयर पट्टा देने के लिए उनके घर पहुंच रही है.

महापौर मुनेश गुर्जर ने दिखाई संवेदनशीलता, 88 वर्षीय बुजुर्ग महिला को घर जाकर सौंपा पट्टा

Jaipur: प्रशासन शहरों के संग अभियान में भले ही नगर निगम पट्टे वितरण करने में कंजूसी कर रहा हो. लेकिन दोनों नगर निगमो में मेयर से लेकर अफसर की संवेदनशीलता भी देखने को मिल रही है. बुजुर्गों को नगर निगम दफ्तर तक नहीं आना पड़े इसके लिए खुद मेयर पट्टा देने के लिए उनके घर पहुंच रही है. तो दूसरी तरफ नगर निगम की सीढ़ियां नहीं चढ़ने वाले बुजुर्ग के हाथों में उनके आशियाने का पट्टा देने के लिए अफसर अपने चेंबर से बाहर निकल कर उनकी गाड़ी तक पहुंचने वाली तस्वीरें सुकून देती हैं.

नगर निगम ग्रेटर में चैम्बर से निकलकर गाड़ी तक पट्टा देने पहुंचे अफसर
नगर निगम ग्रेटर जयपुर के अतिरिक्त आयुक्त बृजेश कुमार चांदोलिया और अन्य अधिकारियों ने 90 वर्षीय बुर्जुग को पट्टा देने के लिये ऑफिस के बाहर आकर मानवीयता का अनुपम उदाहरण पेश किया. अम्बाबाड़ी योजना में मूल आवंटी भगवान सहाय कूलवाल ने प्रसाशन शहरों के संग अभियान के तहत पट्टे के लिये आवेदन किया था. आयोजना शाखा द्वारा दस्तावेज प्राप्त कर उनका पट्टा तैयार कर दिया गया. लाभार्थी अपना पट्टा लेने निगम आये थे लेकिन अधिक उम्र होने के कारण वे कार्यालय में आने में असक्षम थे. यह बात जैसे ही अतिरिक्त आयुक्त को पता चली तो वे अन्य अधिकारियों के साथ पट्टा लेकर बुर्जुग की कार तक पहुंच गये और उन्हें पट्टा प्रदान किया. इस दौरान उपायुक्त आयोजना महेष मान सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे.

महापौर मुनेश गुर्जर ने दिखाई संवेदनशीलता, 88 वर्षीय बुजुर्ग महिला को घर जाकर सौंपा पट्टा
नगर निगम हैरिटेज की महापौर मुनेश गुर्जर ने संवेदनशीलता का परिचय देते हुए 88 साल की बुजुर्ग महिला के घर पर जाकर पट्टा सौंपा. पट्टा पाकर बुजुर्ग महिला और उसका परिवार गदगद हो गए. उन्होंने महापौर का शुक्रिया अदा करते हुए उनके साथ फोटो भी खिंचवाई. महापौर ने बुजुर्ग महिला के स्वास्थ्य की जानकारी ली और उनकी दीर्घायु की कामना की. प्रशासन शहरों के संग अभियान के तहत महापौर मुनेश गुर्जर (Mayor Munesh Gurjar) ने हैरिटेज नगर निगम मुख्यालय से करीब 20 किमी दूर पत्रकार कॉलोनी के नजदीक विधानसभा नगर में 88 वर्षीय रानी शर्मा को उनके शास्त्री नगर स्थित 125 वर्ग गज आवास का पट्टा सौंपा. रानी देवी के बेटे रामकिशन शर्मा ने बताया कि वह 50 साल से शास्त्री नगर के रामनगर गड्ढे वाले पार्क में पास रह रहे हैं. उन्होंने आठ माह पूर्व सिविल लाइन जोन में पट्टे के लिए आवेदन किया था. कई चक्कर लगाने के बाद भी उन्हें पट्टा नहीं मिला, लेकिन प्रशासन शहरों के संग अभियान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा पट्टा देने के नियमों में सरलीकरण की बदौलत उनका पट्टा आसानी से बन गया. आज खुद मेयर महोदय ने आकर उनकी माताजी को पट्टा सौंपा. शर्मा बताया कि उनके बेटे हिमांशु पट्टे के लिए काफी अरसे से प्रयास कर रहे थे. आरएसईबी से सेवानिवृत्त रामकिशन शर्मा ने बताया कि उनकी माताजी पिछले 13 साल से पैरालाइसिस की वजह से बिस्तर पर है. महापौर संवेदनशीलता का परिचय देते हुए खुद घर चल कर आई हैं और उनकी माताजी को पट्टा सौंपा है. उन्होंने इसके लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल और नगर निगम हैरिटेज की महापौर श्रीमती मुनेश गुर्जर को दिल से धन्यवाद दिया.

यह भी पढ़ें: राजस्थान में एक बार होगी मावठ की बारिश, आने वाले दिनों में मौसम बदलेगा करवट

80 साल के बुजुर्ग दंपत्ती को मिला हक का पट्टा
शहर की चारदीवारी के नाहरगढ रोड में रहने वाले मोहनलाल बनसिया बरसों से अपने मकान के पट्टे के लिए प्रयास कर रहे थे, इसके लिए वे निगम कार्यालय के काफी चक्कर लगा चुके थे, लेकिन वे पट्टा बनाने में सफल नहीं हो पाए. 80 साल के बुजुर्ग दंपत्ती ने बताया कि प्रशासन शहरों संग अभियान की शुरू होने के साथ ही उन्होंने पटटे के लिए आवेदन किया. नियमों में सरलीकरण की वजह से उन्हें इस बार ज्यादा दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ा और उन्हें हक का पट्टा मिल गया. मोहनलाल बताते हैं कि प्रशासन शहरों के संग अभियान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा पट्टा देने के नियमों में सरलीकरण कर दिया है. इस कारण उनका पट्टा आसानी से बन गया. पट्टा पाकर बुजुर्ग दंपत्ती प्रसन्न हो गए। उन्होंने इसके लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल और हवामहल-आमेर जोन के जोन उपायुक्त और उनकी टीम का आभार व्यक्त किया है.

Trending news