बंशी पहाड़पुर पर फिर होगा खनन, 3 दिसंबर तक नीलामी प्रक्रिया
X

बंशी पहाड़पुर पर फिर होगा खनन, 3 दिसंबर तक नीलामी प्रक्रिया

राजस्थान के माइंस विभाग ने बंशी पहाडपुर क्षेत्र (Banshi Paharpur) में 39 खनन प्लॉटों की ई नीलामी की प्रक्रिया शरु कर दी है. 

बंशी पहाड़पुर पर फिर होगा खनन, 3 दिसंबर तक नीलामी प्रक्रिया

Jaipur : राजस्थान के माइंस विभाग ने बंशी पहाडपुर क्षेत्र (Banshi Paharpur) में 39 खनन प्लॉटों की ई नीलामी की प्रक्रिया शरु कर दी है. 135.94 हैक्टेयर क्षेत्र के 30 खनन प्लाटों की ई नीलामी 10 नवंबर से आरंभ होकर 24 नवंबर तक चलेगी. वहीं, 94.70 हैक्टेयर क्षेत्र के 9 खनन प्लॉटों की नीलामी 25 नवंबर से आरंभ होकर 3 दिसंबर तक चलेगी. नीलामी की यह प्रक्रिया भारत सरकार के ई नीलामी पोर्टल एमएसटीसी के माध्यम से की जा रही है.

अतिरिक्त मुख्य सचिव माइंस, पेट्रोलियम एवं एनर्जी डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) के प्रयासों से इसी साल मार्च में बंशी पहाड़पुर खनन क्षेत्र ब्लॉक ए व बी सुखासिला एवं कोट क्षेत्र को बंध बारेठा वन्यजीव अभयारण्य क्षेत्र से बाहर करवाया गया. जून में केन्द्र सरकार के वन, पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने भरतपुर के बंशी पहाड़पुर में खनिज सेंड स्टोन के खनन के लिए वन भूमि के डायवर्जन की प्रथम स्तरीय स्वीकृति जारी कराई गई. भारत सरकार की स्वीकृति के साथ ही बंशी पहाड़पुर में खनन ब्लॉक तैयार कर इनके ऑक्शन की राह प्रशस्त हो गई. 

यह भी पढें- CM Gehlot ने ली पर्यटन विभाग की समीक्षा बैठक, कहा- Rajasthan की मजबूत ब्रांडिंग की जाए

राम मंदिर के लिए सेंड स्टोन मिल सकेगा
अतिरिक्त मुख्य सचिव अग्रवाल ने बताया कि नीलामी के बाद क्षेत्र में वैध खनन हो सकेगा वहीं राम मंदिर के लिए सेंड स्टोन वैध तरीके से खनन के माध्यम से उपलब्ध हो सकेगा. देश भर में बंशी पहाड़पुर के गुलाबी और लाल पत्थर की मांग को देखते हुए यहां अवैध खनन को रोककर वैध खनन के प्रयास किए गए. बंशी पहाड़पुर क्षेत्र के 120 हैक्टेयर खनन क्षेत्र को राज्य सरकार के उपक्रम राजस्थान राज्य खान एवं खनिज लिमिटेड के लिए आरक्षित किया गया है. वहीं, 230.64 हैक्टेयर क्षेत्र में 39 खनन प्लॉट विकसित कर ई नीलामी की जा रही है.

दस हजार लोगों को मिलेगा रोजगार
इस क्षेत्र में वैध खनन गतिविधियां आरंभ होने से  एक मोटे अनुमान के अनुसार 10 हजार लोगों को प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा, वहीं खनिज उद्योग क्षेत्र में निवेश आएगा और खनिज उद्योगों की स्थापना हो सकेगी. उन्होंने बताया कि एक मोटे अनुमान के अनुसार बंशी पहाड़पुर में ई-ऑक्शन से खनन पट्टे जारी होने पर राज्य सरकार को करीब 200 से 300 करोड़ रुपए का राजस्व प्राप्त होने की संभावना है.

Trending news