Rajasthan के गेहूं उत्पादक काश्तकारों के लिए राहत की खबर, केंद्र सरकार ने दिए ये आदेश

बेमौसम बारिश से गेहूंं की फसल (Wheat) में नुकसान के बाद दाने की चमक कम होने वाले गेहूं भी अब सरकार खरीदेगी. समर्थन मूल्य पर कम चमक वाले गेेेेेहू को ख़रीदने की केंद्र सरकार ने हरी झंडी दे दी है.

Rajasthan के गेहूं उत्पादक काश्तकारों के लिए राहत की खबर, केंद्र सरकार ने दिए ये आदेश
फाइल फोटो

Jaipur : बेमौसम बारिश से गेहूंं की फसल (Wheat) में नुकसान के बाद दाने की चमक कम होने वाले गेहूं भी अब सरकार खरीदेगी. समर्थन मूल्य पर कम चमक वाले गेेेेेहू को ख़रीदने की केंद्र सरकार ने हरी झंडी दे दी है. मुख्यमंत्री गहलोत के निर्देश पर कोविड महामारी (Coronavirus) में किसानों को राहत देने के लिए केंद्र सरकार से पत्राचार कर बेमौसम बारिश एवं अंधड़ के कारण प्रभावित श्रीगंगानगर हनुमानगढ़ और कोटा जिलों में गेहूं खरीद हेतु निर्धारित मापदंडों में छूट चाही गई थी.

यह भी पढ़ें- बढ़ते Covid संक्रमण को लेकर हालात चिंताजनक, BJP प्रवक्ता Ramlal Sharma ने रखी यह मांग

मुख्यमंत्री का पत्राचार, गेहूं उत्पादक काश्तकारों को मिली राहत
सरकारी गेहूं खरीद केंद्रों पर बारिश में भीगने से हल्की चमक वाला गेहूं अब खरीदा जा सकेगा. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से किए गए पत्राचार के बाद केंद्र सरकार ने कम चमक वाले गेंहू की खरीद को हरी झंडी दे दी है. खाद्य नागरिक आपूर्ति विभाग के सचिव नवीन जैन ने बताया कि इस सम्बन्ध में भारत सरकार द्वारा गठित टीम द्वारा प्रभावित जिलों में गेहूं फसल के खरीद सैंपल लेकर जांच की गयी. केंद्र सरकार द्वारा जांच उपरांत समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीद हेतु निर्धारित मापदंडों के अनुसार छूट प्रदान की गयी जिसके कारण प्रदेश के गेहूं उत्पादक काश्तकारों को काफी राहत मिलेगी. 

बारिश-अंधड़ से कम हुई गेहूं की चमक
जिला श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ और कोटा में बेमौसम बारिश-अंधड़ के कारण गेहूं फसल की गुणवत्ता में गुणात्मक क्षति होने के कारण भारतीय खाद्य निगम के किस्म निरीक्षक द्वारा बरसात से प्रभावित गेहूं (बिना/कम चमक का गेहूं) को भारत सरकार के खरीद मानकों के अनुरूप नहीं नहीं पाया गया. जिससे गेहूं खरीदने में असमर्थता जताई जा रही थी. उन्होंने बताया कि गेहूं उत्पादक किसानों को असुविधा हो रही थीं जिसके  बारे में जिला कलेक्टरों की ओर से भी इस सम्बन्ध में छूट दिलाये जाने का अनुरोध किया गया. उन्होंने जिला कलक्टर गंगानगर, हनुमानगढ़ और कोटा सहित खरीद एजेंसीज को केंद्र सरकार से प्राप्त छूट के सम्बन्ध में अवगत कराते हुए गेहूं की निर्बाध रूप से खरीद किये जाने के निर्देश प्रदान किए हैं.

यह भी पढ़ें- Covid प्रबंधन को लेकर BJP ने राजस्थान सरकार पर बोला हमला, कहा- CHC-PHC पर हो इलाज