Phone Tapping Case: Delhi Crime Branch के नोटिस का OSD लोकेश शर्मा ने दिया यह जवाब

मुख्यमंत्री के ओएसडी लोकेश शर्मा ने अपने ईमेल से भेजे गए जवाब में क्राइम ब्रांच के समक्ष फिलहाल उपस्थित होने में असमर्थता व्यक्त की है. 

Phone Tapping Case: Delhi Crime Branch के नोटिस का OSD लोकेश शर्मा ने दिया यह जवाब
लोकेश शर्मा ने अपने ईमेल से भेजे गए जवाब में क्राइम ब्रांच के समक्ष फिलहाल उपस्थित होने में असमर्थता व्यक्त की है.

Jaipur: राजस्थान (Rajasthan) में कथित फोन टैपिंग (Phone Tapping) मामले में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के ओएसडी लोकेश शर्मा (Lokesh Sharma) को दिल्ली क्राइम ब्रांच की ओर से मिले नोटिस का जवाब भेजा गया है. 

यह भी पढ़ें- Delhi Crime Branch के सामने क्यों पेश नहीं हुए मुख्य सचेतक Mahesh Joshi, खुद बताई वजह

मुख्यमंत्री के ओएसडी लोकेश शर्मा ने अपने ईमेल से भेजे गए जवाब में क्राइम ब्रांच के समक्ष फिलहाल उपस्थित होने में असमर्थता व्यक्त की है. 

यह भी पढ़ें- Rajasthan: फाइनली Congress नेताओं-कार्यकर्ताओं के लिए आई अच्छी खबर, सभी धड़ों की है सहमति

सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक, लोकेश शर्मा ने ईमेल में लिखा है कि व्यक्तिगत कारणों के चलते दो-तीन सप्ताह तक वे दिल्ली क्राइम ब्रांच के समक्ष उपस्थित नहीं हो सकते हैं. बाद में जब भी दिल्ली क्राइम ब्रांच नई तारीख देगी तो वे उपस्थित हो जाएंगे. अपने जवाब में लोकेश शर्मा ने यह भी बताया है कि अगर इस दौरान दिल्ली क्राइम ब्रांच को किसी भी तरह की कोई अर्जेंट जानकारी चाहिए तो वे वीडियो कॉन्फ्रेंस पर भी उपलब्ध है. 

24 जुलाई को दिल्ली क्राइम ब्रांच के समक्ष उपस्थित होना था लोकेश शर्मा को
गौरतलब है कि दिल्ली क्राइम ब्रांच की ओर से दिए गए नोटिस में लोकेश शर्मा को कल यानी 24 जुलाई को दिल्ली क्राइम ब्रांच के समक्ष उपस्थित होना था लेकिन लोकेश शर्मा के इस स्टैंड से यह साफ हो गया है कि कम से कम आगामी 21 दिनों तक लोकेश शर्मा दिल्ली क्राइम ब्रांच की पूछताछ के लिए दिल्ली नहीं जा रहे हैं. मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने 6 अगस्त तक दिल्ली क्राइम ब्रांच की किसी भी प्रकार की कार्यवाही पर रोक लगा रखी है. दिल्ली हाई कोर्ट में अगली सुनवाई 6 अगस्त को ही होनी है. 

लोगों के खिलाफ फोन टैपिंग के आरोप में एफ आई आर थी दर्ज
उल्लेखनीय है कि राजस्थान में पिछले साल कांग्रेस के सियासी घमासान के दौरान कथित ऑडियो जारी होने के मामले में केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत की ओर से लोकेश शर्मा सहित कई लोगों के खिलाफ फोन टैपिंग के आरोप में एफ आई आर दर्ज करवाई गई थी. फोन टेपिंग मामले में लोकेश शर्मा के अलावा मुख्य सचेतक महेश जोशी को भी दिल्ली क्राइम ब्रांच की ओर से नोटिस मिल चुका है लेकिन महेश जोशी ने भी दिल्ली क्राइम ब्रांच को कानूनी राय के आधार पर नोटिस का जवाब दे दिया है.