महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों में होगा पूर्व प्राथमिक कक्षाओं का संचालन, शिक्षा मंत्री डोटासरा ने दिए दिशा निर्देश
X

महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों में होगा पूर्व प्राथमिक कक्षाओं का संचालन, शिक्षा मंत्री डोटासरा ने दिए दिशा निर्देश

शिक्षा मंत्री (Education Minister) ने बताया की पूर्व प्राथमिक कक्षाओं में आरएससीईआरटी (RSCERT) द्वारा विशेष रूप से तैयार पाठ्यक्रम लागू किया जाएगा.

महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों में होगा पूर्व प्राथमिक कक्षाओं का संचालन, शिक्षा मंत्री डोटासरा ने दिए दिशा निर्देश

Jaipur: प्रदेश के महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों (Mahatma Gandhi English Medium Schools) में पूर्व प्राथमिक कक्षाओं का संचालन किया जाएगा. वहीं, शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasara) ने शनिवार को इस सम्बंध में दिशा-निर्देश जारी करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री (CM Ashok Gehlot) की बजट घोषणा की अनुपालना में प्रथम चरण में 33 जिला मुख्यालयों पर संचालित महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों में इसी सत्र से पूर्व प्राथमिक कक्षाएं शुरू की जाएंगी. 

यह भी पढ़ेंः Patwari Exam 2021: जानिए पेपर को लेकर परीक्षार्थियों की प्रतिक्रिया

साथ ही जल्द ही ब्लॉक स्तर पर भी इसका विस्तार किया जाएगा. पूर्व प्राथमिक शिक्षा कार्यक्रम (Primary Education Program) की अवधि 3 वर्ष की होगी, जिसमे 3 वर्ष और उससे अधिक आयु के बच्चों को प्रवेश दिया जाएगा. प्रत्येक खण्ड में विद्यार्थियों की संख्या 25 होगी और विद्यालयों हेतु शिक्षकों का चयन वर्तमान में कार्यरत लेवल 1 अध्यापकों में से वॉक इन इंटरव्यू के द्वारा किया जाएगा. 

शिक्षा मंत्री (Education Minister) ने बताया की पूर्व प्राथमिक कक्षाओं में आरएससीईआरटी (RSCERT) द्वारा विशेष रूप से तैयार पाठ्यक्रम लागू किया जाएगा. साथ ही कक्षाएं प्रतिदिन 4 घंटे और सप्ताह में पांच दिन संचालित होगी. पूर्व प्राथमिक कक्षाओं का संचालन महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों के वर्तमान भवन में किया जाएगा. 

यह भी पढ़ेंः किंग Air B-200 को बेचने का हुआ निर्णय, कमेटी करेगी बाजार दर का आकलन

वहीं, अतिरिक्त कक्षा कक्ष की आवश्यकता होने पर विद्यालयवार अलग से भवन निर्माण किया जाएगा. उल्लेखनीय है शिक्षा विभाग के इस आदेश की क्रियान्विति के साथ राजस्थान अंग्रेजी माध्यम में राजकीय विद्यालयों में पूर्व प्राथमिक कक्षाओं का संचालन करने वाला वर्तमान में देश का एकमात्र राज्य बन गया है. 

Trending news