Rajasthan University की पहल, Jaipur Blast के 36 पीड़ित आश्रितों को दी निशुल्क शिक्षा

राजस्थान यूनिवर्सिटी के जनसंपर्क अधिकारी डॉक्टर भूपेंद्र सिंह शेखावत (Bhupendra Singh Shekhawat) ने बताया कि "विश्वविद्यालय ने इस सहायता योजना के लिए अपने प्रवेश नियमों में एक विशेष अध्यादेश बनाया.

Rajasthan University की पहल, Jaipur Blast के 36 पीड़ित आश्रितों को दी निशुल्क शिक्षा
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Jaipur: राजस्थान विश्वविद्यालय (Rajasthan University) की अभिनव पहल के तहत जयपुर बम ब्लास्ट (Jaipur Bomb Blast) के 36 पीड़ित युवा आश्रितों को अब तक निशुल्क उच्च शिक्षा दी जा चुकी है. 

यह भी पढ़ें- Jaipur Blast: 13 साल बाद भी धधक रही आग, अभियुक्तों की फांसी का अब भी है इंतजार

राजस्थान विश्वविद्यालय देश का ऐसा पहला विश्वविद्यालय है, जिसने आंतकवादी घटनाओं के प्रभाव को कम करने के उद्देश्य से इन घटनाओं में पीड़ित निर्दोष परिवारों के आश्रित युवाओं को प्राथमिकता के आधार पर सभी स्नातक एवं स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में इनके संपूर्ण अध्ययन समाप्ति तक निशुल्क उच्च शिक्षा देकर इनके जीवन को बदलने का अद्भुत कार्य किया है.

यह भी पढ़ें- Rajasthan: Corona की दूसरी वेव में फिर तेज हुआ 'फीस विवाद', निजी स्कूल कर रहे मनमानी

13 मई 2008 को जयपुर में हुए सिलसिलेवार बम विस्फोट की आंतकवादी घटनाओं में जयपुर शहर के हजारों निर्दोष घायलों और सैकड़ों की तादाद में मृतकों के आश्रितों को विश्वविद्यालय में निशुल्क उच्च शिक्षा एवं प्राथमिकता के आधार पर सभी पाठ्यक्रमों में प्रवेश कि यह अभिनव योजना विश्वविद्यालय के जनसंपर्क अधिकारी डॉ भूपेंद्र सिंह शेखावत द्वारा इस संबंध में किए गए विस्तृत अध्ययन के आधार पर प्रस्तुत की गई योजना के तहत लागू की गई.

क्या कहना है यूनिवर्सिटी के जनसंपर्क अधिकारी का
राजस्थान यूनिवर्सिटी के जनसंपर्क अधिकारी डॉक्टर भूपेंद्र सिंह शेखावत (Bhupendra Singh Shekhawat) ने बताया कि "विश्वविद्यालय ने इस सहायता योजना के लिए अपने प्रवेश नियमों में एक विशेष अध्यादेश बनाया. अब तक इस अध्यादेश के तहत 36 युवाओं को विश्वविद्यालय ने निशुल्क उच्च शिक्षा दी है. 

इस योजना से जुड़े अधिकांश युवा उच्च शिक्षा लेकर अनेक सरकारी वह निजी संस्थानों में रोजगार प्राप्त कर चुके हैं. यह योजना वर्तमान में भी प्रभावी है. राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा में रही इस योजना की सराहना जयपुर  में आयोजित एक कार्यक्रम में कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता राहुल गांधी द्वारा भी की गई."