29 जुलाई से शुरू हो रही UG Final Year की परीक्षाएं, केंद्रों की संख्या में बढ़ोतरी

29 जुलाई से प्रदेशभर में उच्च शिक्षा के अंतिम वर्ष की परीक्षाएं शुरू होने जा रही है. 

29 जुलाई से शुरू हो रही UG Final Year की परीक्षाएं, केंद्रों की संख्या में बढ़ोतरी
फाइल फोटो

Jaipur : 29 जुलाई से प्रदेशभर में उच्च शिक्षा के अंतिम वर्ष की परीक्षाएं शुरू होने जा रही है. 29 जुलाई से जहां UG अंतिम वर्ष की परीक्षाएं (UG Final Year Exam) शुरू होने जा रही है. वहीं, पीजी और सेमेस्टर की परीक्षाएं भी अगस्त के पहले सप्ताह से शुरू होने जा रही है. परीक्षाओं को लेकर उच्च शिक्षा विभाग और राजस्थान विश्वविद्यालय (Rajasthan University) ने अपनी तैयारियां पूरी कर ली है. कोरोना गाइडलाइन के तहत जहां लगातार दूसरे साल परीक्षा केंद्रों की संख्या में बढ़ोतरी की गई है. वहीं, परीक्षा (Exam) से पहले कोरोना गाइडलाइन को लेकर प्रवेश पत्र में पूरी जानकारी भी दी गई है.

यह भी पढ़ें : Hanuman Beniwal ने की RPSC चेयरमैन और सदस्यों की आय की CBI जांच की मांग, जानें मामला

परीक्षाओं को लेकर उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी का कहना है कि "यूजीसी और सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार राजस्थान में परीक्षा का आयोजन करवाया जा रहा है. अगस्त तक इन परीक्षाओं को पूरा करवाने के साथ ही सितंबर में परिणाम जारी कर दिया जाएगा. साथ ही अगर अक्टूबर में परिस्थितियां सामान्य रहती है तो द्वितीय वर्ष की परीक्षा का आयोजन भी करवाया जाएगा. कोरोना गाइड लाइन (Corona Guide line) के तहत परीक्षा आयोजन को लेकर सभी यूनिवर्सिटी और कॉलेज को दिशा निर्देश दे दिए गए हैं. प्रश्नपत्र में सवालों को हल करने में कमी की गई है तो वहीं प्रत्येक प्रश्नपत्र के लिए डेढ़ घंटे का समय भी दिया गया है"

वहीं, राजस्थान विश्वविद्यालय (Rajasthan University) के कुलपति प्रोफेसर राजीव जैन भी परीक्षाओं के आयोजन को लेकर निश्चित नजर आ रहे हैं. प्रोफेसर राजीव जैन का कहना है कि "परीक्षाओं के संबंध में सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है. परीक्षा केंद्र में प्रवेश से पहले परीक्षार्थियों के हाथ साबुन से धुलवाए जाएंगे तो वही सैनिटाइजर की भी पर्याप्त व्यवस्था करवाई गई है. परीक्षा केंद्रों की संख्या बढ़ाई गई है ताकि सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन किया जा सके. इसके साथ ही उच्च शिक्षा विभाग की ओर से जो भी दिशा निर्देश जारी किए गए हैं उन सभी की पालना करवाई जाएगी. वैक्सीनेशन अधिकतर विद्यार्थियों का हो चुका है ऐसे में किसी प्रकार के डरने की आवश्यकता नहीं और जिन विद्यार्थियों ने अभी तक वैक्सीनेशन नहीं करवाया है उनसे शपथ पत्र भरवाए जाएगा कि वह जल्दी वैक्सीनेशन करवाएं.

यह भी पढ़ें : Rajasthan: मंत्रिमंडल फेरबदल और विस्तार में लागू हो सकता है यह सिद्धांत, होंगे बड़े बदलाव