Dish TV मामले में IiAS और Yes Bank की क्या है मंशा ? क्या बड़े निवेशकों को गुमराह करने की है कोशिश?
X

Dish TV मामले में IiAS और Yes Bank की क्या है मंशा ? क्या बड़े निवेशकों को गुमराह करने की है कोशिश?

 अब Yes Bank और IiAS अपने सवालों में खुद ही फंसते नजर आ रहे हैं.

Dish TV मामले में IiAS और Yes Bank की क्या है मंशा ? क्या बड़े निवेशकों को गुमराह करने की है कोशिश?

Dish TV-Yes Bank latest news: पिछले कुछ दिनों से यस बैंक और डिश टीवी की खबरें बाजारों में फोकस में हैं. यस बैंक ने डिश टीवी में नए निदेशकों को नियुक्त करने का प्रस्ताव दिया है. शेयर बाजार में पिछले कुछ दिनों से Yes Bank और Dish TV चर्चा में हैं. यस बैंक ने डिश टीवी के बोर्ड में 5 डायरेक्टर्स को हटाने की मांग की थी. इस प्रस्ताव को प्रॉक्सी एडवाइजरी फर्म IiAS ने भी अपना समर्थन दिया था लेकिन, अब Yes Bank और IiAS अपने सवालों में खुद ही फंसते नजर आ रहे हैं. अब सवाल उठ रहे हैं कि Yes Bank की ऐसी मांग रखने की मंशा क्या है? साथ ही उसके बाद IiAS भी उसे क्यों समर्थन दे रहा है? इसके पीछे दोनों की मंशा क्या है?

अब सवाल यह है कि अचानक ऐसी मांग क्यों की जा रही है?  और किसके कहने पर यह सब किया जा रहा है?  इससे क्या हासिल करना चाहते हैं? क्या Yes Bank और IiAS किसी बड़े कॉरपोरेट घराने के कहने पर यह सब कर रहे हैं? 

यह भी पढ़े- Jaipur: जादुई उछाल पर शेयर बाजार, विदेशी निवेशकों का भी मिल रहा है बेहतर रिस्पांस

Dish TV के बोर्ड में नहीं हो सकता बदलाव 
दरअसल, Yes Bank की डिमांड को पहले ही प्रॉक्सी एडवाइजरी फर्म SES ने सहमति देने से मना कर दिया है. प्रॉक्सी एडवाइजरी फर्म SES ने अपने नोट में कहा था कि Dish TV के बोर्ड में बदलाव नहीं हो सकता. इसके लिए पहले इन्फॉर्मेशन एंड ब्रॉडकास्टिंग मिनिस्ट्री ( Information and Broadcasting Ministry) की मंजूरी लेनी होगी. ज़ी बिज़नेस ( zee business) की टीम ने इस पूरे मामले में कुछ जरूरी जानकारी जुटाई है. ज़ी बिज़नेस के असिस्टेंट एडिटर ब्रजेश कुमार (Assistant Editor Brajesh Kumar) और एक्जीक्यूटिव एडिटर स्वाति खंडेलवाल ने इस पूरे मामले पर लोगों से बातचीत की है, जिसके आधार पर बहुत से सवाल उठ रहे हैं. आशंका है कि IiAS और यस बैंक (Yes Bank) दोनों ही किसी कॉरपोरेट घराने के कहने पर यह सब कर रहे हैं. IiAS ने Yes Bank की जिस मांग को सपोर्ट किया उसके पीछे की मंशा क्या थी? इसमें इनका क्या रोल रहा है?

यह भी पढ़े- NEET में नकल से परीक्षार्थियों में डर, REET 2021 में बायोमेट्रिक हाजिरी लेने की मांग

डिश टीवी के मामले पर प्रॉक्सी एडवाइजरी फर्म IiAS से ज़ी बिज़नेस के सवाल
- यस बैंक ने प्रस्ताव क्यों रखा? IiAS ने इसका समर्थन क्यों किया?
-यस बैंक और IiAS चुनिंदा तथ्यों का प्रचार क्यों कर रहे हैं? 
-क्या IiAS किसी ऐसे व्यक्ति की ओर से काम कर रहा है जो डिश टीवी का अधिग्रहण करना चाहता है?
-क्या बड़े निवेशकों को गुमराह करने की कोशिश कर रही है IiAS?
-IiAS का कहना है कि वित्तीय नतीजे रोके जाने चाहिए- इस कदम से किसे फायदा होगा? यह सलाह क्यों?
- यस बैंक के प्रस्तावित नॉमिनी पर सेबी ऑर्डर, उस पर IiAS चुप क्यों?
-IiAS नियामक कार्रवाई का सामना करने वाले किसी व्यक्ति को नियुक्त करने के यस बैंक के प्रस्ताव पर चुप क्यों है?
-सेलेक्टिव कॉरपोरेट गवर्नेंस का मुद्दा उठाने के पीछे आखिर क्या इरादा है?
-डिश टीवी प्रबंधन परिवर्तन की मांग क्यों है-यस बैंक इससे क्या हासिल करना चाहता है?

ऐसे कई बिंदु हैं जो डिश टीवी के मामले में यस बैंक और आईआईएएस की चाल और इरादों पर संदेह पैदा करते हैं. ऐसा लगता है कि निवेशकों के मन में संदेह पैदा करने की योजना है लेकिन इस तरह के कदम से प्रॉक्सी फर्म के लिए ही साख का नुकसान हो सकता है. ज़ी मीडिया ने यस बैंक और आईआईएएस को उनकी प्रतिक्रिया के लिए मेल भेजे लेकिन इसको प्रकाशित करने तक कोई जवाब नहीं आया. 

 

Trending news